इनकम टैक्स स्लैब में हो सकता है ये बड़ा बदलाव, आम आदमी को बड़ी राहत के संकेत
इनकम टैक्स स्लैब में हो सकता है ये बड़ा बदलाव, आम आदमी को बड़ी राहत के संकेत
इनकम टैक्स स्लैब में हो सकता है ये बड़ा बदलाव, आम आदमी को बड़ी राहत के संकेत
इनकम टैक्स स्लैब में हो सकता है ये बड़ा बदलाव, आम आदमी को बड़ी राहत के संकेत

"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

इनकम टैक्स स्लैब में हो सकता है ये बड़ा बदलाव, आम आदमी को बड़ी राहत के संकेत

नई दिल्ली : 1 फरवरी 2020 को पेश होने वाले आम बजट में इनकम टैक्स से राहत मिलने की पूरी उम्मीद है. इसके संकेत शुक्रवार को पेश हुए आर्थिक सर्वे से मिले हैं. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में आर्थिक सर्वेक्षण 2019-20 पेश कर दिया है. आर्थिक सर्वेक्षण में उम्मीद जताई गई
  

इनकम टैक्स स्लैब में हो सकता है ये बड़ा बदलाव, आम आदमी को बड़ी राहत के संकेत

नई दिल्ली : 1 फरवरी 2020 को पेश होने वाले आम बजट में इनकम टैक्स से राहत मिलने की पूरी उम्मीद है. इसके संकेत शुक्रवार को पेश हुए आर्थिक सर्वे से मिले हैं. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में आर्थिक सर्वेक्षण 2019-20 पेश कर दिया है.

आर्थिक सर्वेक्षण में उम्‍मीद जताई गई है कि सरकार बजट 2020 में व्‍यक्तिगत करदाताओं को आयकर में राहत की घोषणा कर सकती है. साथ ही इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर सेक्‍टर में निवेश बढ़ाने वाली घोषणाएं कर सकती है. आपको बता दें कि कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के बाद पर्सनल इनकम टैक्स में छूट की मांग तेज होती रही है.

इकनॉमी में डिमांड और कंजप्शन बढ़ाने के लिए पर्सनल इनकम टैक्स में छूट बेहद जरूरी मानी जा रही है. एक्सपर्ट्स की राय है कि आम टैक्सपेयर्स को छूट देकर इकनॉमी में डिमांड बढ़ाई जा सकती है. पिछले कई वर्षों से इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के तहत छूट की सीमा बढ़ाने की मांग की जा रही है.

इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव उम्मीद
  • आम बजट को लेकर इस बार मध्यम वर्ग और वेतनभोगी कर्मचारियों की सबसे ज्यादा उम्मीद इनकम टैक्स स्लैब में कटौती को लेकर ही है.
  • मौजूदा टैक्स स्लैब में 2.5 लाख रुपये तक की आय पर कोई टैक्स नहीं लगता, जबकि ढाई लाख से 5 लाख तक पर 5 फीसदी टैक्स देना होता है.
  • इसके बाद 5 से 10 लाख तक पर 20 फीसदी टैक्स लगता है और उससे ऊपर की आमदनी पर यह 30 फीसदी है.>> वित्तीय सलाहकार की मानें तो 5 लाख तक जीरो टैक्स होना चाहिए. इसके बाद 5 से 10 लाख तक की कमाई पर 20 की बजाय 10 फीसदी, 10 लाख से 20 लाख तक की कमाई पर 20 फीसदी और 20 से ऊपर की इनकम पर 30 फीसदी टैक्स होना चाहिए.

Share this story