"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

इन कारणों से शादीशुदा महिलाएं शादी के बाद भी रखती है पराये मर्दो से संबंध

टीम डिजिटल : हिंदू धर्म में विवाह को एक पवित्र दायित्व माना गया है। शादी के बाद दो अलग-अलग व्यक्ति एक साथ आते हैं, और उनके बीच एक पवित्र रिश्ता बनता है। लेकिन ऐसे समय होते हैं जब ये रिश्ते खराब हो जाते हैं, और कई लोग शादी के कुछ वर्षों के भीतर तलाक ले
  

इन कारणों से शादीशुदा महिलाएं शादी के बाद भी रखती है पराये मर्दो से संबंध

टीम डिजिटल : हिंदू धर्म में विवाह को एक पवित्र दायित्व माना गया है। शादी के बाद दो अलग-अलग व्यक्ति एक साथ आते हैं, और उनके बीच एक पवित्र रिश्ता बनता है।

लेकिन ऐसे समय होते हैं जब ये रिश्ते खराब हो जाते हैं, और कई लोग शादी के कुछ वर्षों के भीतर तलाक ले लेते हैं। कभी-कभी शादी के बाद, कुछ महिलाओं के विवाहेतर संबंध होते हैं। आज हम शादीशुदा महिलाओं को शादी से दूर रखने के क्या कारण हैं?

अकेलापन 

बहुत से पुरुष काम में इतने व्यस्त होते हैं कि वे अपनी पत्नी को पर्याप्त समय नहीं दे पाते हैं या काम के लिए घर से लगातार दूर रहते हैं। इस मामले में, क्योंकि महिलाएं एकल हैं, वे दूसरे पुरुष की ओर आकर्षित होती हैं और विवाहेतर संबंध स्थापित करती हैं

अतीत की कुछ बातें

कुछ महिलाओं का शादी से पहले प्रेम संबंध होता है और शादी के बाद वे अपने अतीत को नहीं भूल सकती हैं। ताकि उनका अपने पूर्व प्रेमी के साथ विवाहेतर संबंध हो

शारीरिक आवश्यकता

कभी-कभी पुरुष अपनी पत्नियों को पूरी तरह से संतुष्ट नहीं कर पाते हैं। इस शारीरिक कमजोरी की वजह से वे अपनी पत्नियों से दूर भागते हैं। इस मामले में, महिलाएं अपनी शारीरिक जरूरतों को पूरा करने के लिए विवाहेतर संबंध स्थापित करती हैं

विवाद

हर जीवनसाथी में तकरार होती है। लेकिन अगर यह रिश्ते को प्रभावित करता है, तो दोनों के बीच कोई संबंध नहीं है। इसलिए कुछ महिलाएं बाहरी लोगों की ओर आकर्षित होती हैं।

Share this story