जामिया गोलीकांड : अमित शाह ने दिया दोषी को कड़ी से कड़ी सजा देने का आश्वासन
जामिया गोलीकांड : अमित शाह ने दिया दोषी को कड़ी से कड़ी सजा देने का आश्वासन
जामिया गोलीकांड : अमित शाह ने दिया दोषी को कड़ी से कड़ी सजा देने का आश्वासन
जामिया गोलीकांड : अमित शाह ने दिया दोषी को कड़ी से कड़ी सजा देने का आश्वासन

"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

जामिया गोलीकांड : अमित शाह ने दिया दोषी को कड़ी से कड़ी सजा देने का आश्वासन

नई दिल्ली : दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के पास गुरुवार को चलाई गई गोली की घटना को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने अपने ट्विटर के पर इस बात की जानकारी दी है. शाह ने बताया कि घटना के संबंध में उन्होंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से
  

जामिया गोलीकांड : अमित शाह ने दिया दोषी को कड़ी से कड़ी सजा देने का आश्वासन

नई दिल्ली : दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के पास गुरुवार को चलाई गई गोली की घटना को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने अपने ट्विटर के पर इस बात की जानकारी दी है.

शाह ने बताया कि घटना के संबंध में उन्होंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात की और कठोर से कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं. शाह ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार इस तरह की किसी भी घटना को बर्दाश्त नहीं करेगी और दोषी को बख्शा नहीं जाएगा.

बता दें गुरुवार दोपहर ‘रामभक्त गोपाल’ नाम का एक शख्स ने जामिया नगर इलाके में यूनिवर्सिटी के पास देशी तमंचा लहराते हुए गोली चला दी, जिसमें शादाब फारुक नाम का एक छात्र घायल हो गया. उसकी बांह में गोली लगी है. गोली चलाते वक्त गोपाल को ‘यह लो आज़ादी’ कहते हुए भी सुना गया.

फिलहाल शादाब का दिल्ली स्थित एम्स में इलाज चल रहा है और शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस गोली कांड के बाद इलाके में घेराबंदी कर दी गई है और ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया गया है.

वहीं दूसरी तरफ संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर प्रस्तावित छात्रों के मार्च ने इस घटना के बाद दूसरा ही रूप ले लिया. अब छात्र उक्त घटना को लेकर भी प्रदर्शन पर उतर आए हैं.

शाहीन बाग से होकर राजघाट तक मार्च कर रहे इन छात्रों को पुलिस ने जामिया नगर में रोक दिया है. हजारों की संख्या में छात्र यहां इकट्ठा हैं. पुलिस को उन्हें रोकने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल करना पड़ रहा है.

Share this story