"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

देहरादून : ई-रिक्शा संचालकों का उग्र आंदोलन शुरू, प्रदर्शन के दौरान ई-रिक्शा में लगा दी आग

देहरादून : राजधानी में मुख्य मार्गों पर गाड़ी संचालित किए जाने की अनुमति दिए जाने की मांग को लेकर ई-रिक्शा संचालकों ने उग्र आंदोलन शुरू कर दिया है। परेड मैदान में धरना प्रदर्शन के दौरान एक संचालक ने ई-रिक्शा को आग के हवाले कर दिया। इसकी जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने आग
  

देहरादून : ई-रिक्शा संचालकों का उग्र आंदोलन शुरू, प्रदर्शन के दौरान ई-रिक्शा में लगा दी आग

देहरादून : राजधानी में मुख्य मार्गों पर गाड़ी संचालित किए जाने की अनुमति दिए जाने की मांग को लेकर ई-रिक्शा संचालकों ने उग्र आंदोलन शुरू कर दिया है।

परेड मैदान में धरना प्रदर्शन के दौरान एक संचालक ने ई-रिक्शा को आग के हवाले कर दिया। इसकी जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने आग बुझा दी।

इससे आक्रोशित ई-रिक्शा संचालक ने दोबारा आग लगा दी। जिसे लेकर मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों व संचालकों के बीच तीखी नोक-झोंक होने के साथ ही मारपीट की नौबत आ गई। आखिरकार पुलिसकर्मियों ने जैसे-तैसे स्थिति को संभाला।

दूसरी तरफ ई-रिक्शा संचालकों ने सरकार पर हितों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए क्रमिक अनशन शुरू कर दिया है। वहीं पुलिसकर्मियों पर मारपीट का आरोप भी लगाया गया है।

शासन व परिवहन विभाग के अधिकारी उनकी समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं

घटना के बाद से ई-रिक्शा संचालकों ने क्रमिक अनशन शुरू कर दिया है। पदाधिकारियाें ने आरोप लगाया कि सरकार से लेकर शासन व परिवहन विभाग के अधिकारी उनकी समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं हैं।

ज्यादातर संचालकों ने बैंक से लोन लेकर गाड़ियां ली हैं लेकिन मुख्य मार्गों पर संचालन नहीं होने से वह बैंकों की किश्त देने की स्थिति में नहीं है।

ज्यादातर संचालकों के परिवारों की वित्तीय स्थिति इतनी खराब है कि उन्हें दैनिक खर्च चलाना मुश्किल हो रहा है। वहीं सरकार से लेकर पुलिस-प्रशासन तक कोई उनकी सुनने वाला नहीं है।

क्रमिक अनशन में एसोसिएशन के अध्यक्ष मारुफ राव के अलावा रविंद्र त्यागी, भुवनेश कुमार, सत्यवीर आर्य, रवि, संतोष कुमार व मनीष समेत कई ई-रिक्शा संचालक शामिल हुए।

Share this story