पौड़ी : जनरल ओबीसी कर्मचारियों ने दिखाई अपनी ताकत, पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ किया धरना प्रदर्शन
पौड़ी : जनरल ओबीसी कर्मचारियों ने दिखाई अपनी ताकत, पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ किया धरना प्रदर्शन
पौड़ी : जनरल ओबीसी कर्मचारियों ने दिखाई अपनी ताकत, पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ किया धरना प्रदर्शन
पौड़ी : जनरल ओबीसी कर्मचारियों ने दिखाई अपनी ताकत, पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ किया धरना प्रदर्शन

"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

पौड़ी : जनरल ओबीसी कर्मचारियों ने दिखाई अपनी ताकत, पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ किया धरना प्रदर्शन

पौड़ी : आज गढ़वाल मंडल मुख्यालय में जनरल तथा ओबीसी कर्मचारियों ने पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया तथा उत्तराखंड सरकार को चेताया कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुसार जल्द कर्मचारियों की पदोन्नति को मंजूरी दी जाए। आज सुबह उत्तराखंड जनरल ओबीसी इम्प्लाइज एसोसिएशन से जुडे कर्मचारी डीएम कार्यालय में जमा हुए।
  

पौड़ी : जनरल ओबीसी कर्मचारियों ने दिखाई अपनी ताकत, पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ किया धरना प्रदर्शन

पौड़ी : आज गढ़वाल मंडल मुख्यालय में जनरल तथा ओबीसी कर्मचारियों ने पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया तथा उत्तराखंड सरकार को चेताया कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुसार जल्द कर्मचारियों की पदोन्नति को मंजूरी दी जाए।

आज सुबह उत्तराखंड जनरल ओबीसी इम्प्लाइज एसोसिएशन से जुडे कर्मचारी डीएम कार्यालय में जमा हुए। हालांकि पहले सभी कर्मचारी अपने-अपने कार्यालयों में भी गए।

इसके बाद कर्मचारियों ने डीएम कार्यालय में धरना देते हुए सरकार से जल्द पदोन्नति में लगी रोक को हटाने की मांग उठाई। कर्मचारियों के कार्यबहिष्कार के चलते डीएम, निर्वाचन, आरटीओ कार्यालयों में शतफीसदी कर्मचारियों ने हड़ताल में हिस्सा लिया। इसके साथ ही विकास भवन स्थित कई विभागों में भी कामकाज प्रभावित रहा। धरने को सफल बनाने के लिए एसोसिएशन द्वारा सचल दल भी बनाए गए थे।

सचल दलों ने कई विभागों में छापेमारी करते हुए कर्मचारियों को धरना स्थल तक लाने का काम किया। डीएम कार्यालय में आयोजित धरना स्थल में एसोसिएशन के मुख्य संयोजक सीताराम पोखरियाल, अध्यक्ष सोहन रावत ने बताया कोषाध्यक्ष जसपाल रावत आदि ने कहा है कि पिछले दिनों कोर्ट ने पदोन्नति में आरक्षण को समाप्त करने का फैसला दिया लेकिन राज्य सरकार द्वारा अभी तक पदोन्नति में रोक नहीं हटाई गई है।

जिससे कर्मचारियों में नाराजगी बनी हुई है। बताया कि जल्द ही समस्या का हल नहीं होने पर प्रांतीय कार्यकारिणी के आह्वान पर उग्र आंदोलन किया जाएगा। धरने में रेवती नंदन डंगवाल, प्रेमचंद्र ध्यानी, शेखर पंवार, संजय नेगी, यतीन शाह, संदीप राणा, प्रदीप सजवाण, दीपक कोठारी, संग्राम सिंह नेगी, कुलदीप रावत, विनोद महर, मनीष भंडारी, चंदन नेगी, आदि शामिल थे।

Share this story