सरकार ने दिया बड़ा तोहफा! पीएम किसान सम्मान निधि में हो सकती है 2,000 रुपये की बढ़ोतरी

पीएम किसान सम्मान निधि योजना कृषकों के बूस्टर डोज की तरह साबित होती जा रही है, जिसका बड़े स्तर पर लोगों को लाभ मिल रहा है।
सरकार ने दिया बड़ा तोहफा! पीएम किसान सम्मान निधि में हो सकती है 2,000 रुपये की बढ़ोतरी
दून हॉराइज़न, नई दिल्ली

केंद्र सरकार जुलाई के तीसरे सप्ताह में इस वित्तीय साल का पूर्ण बजट पेश करेगी, जिससे सभी वर्गों को काफी उम्मीदें हैं। खासकर सबसे ज्यादा किसी को उम्मीदें हैं तो उसमें सबसे आगे नाम किसानों को आता है।

कृषक चाहते हैं कि जल्द ही पीएम किसान सम्मान निधि योजना की किस्त की राशि में इजाफा किया जाए, जिससे उन्हें बंपर फायदा मिले। कुछ कृषि विशेषज्ञों ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उन्होंने वित्त मंत्री से केंद्रीय बजट में पीएम किसान किस्त की राशि को बढ़ाने की मांग की है।

अब मांग स्वीकार होगी या नहीं, यह तो पूर्ण बजट में ही पता चल सकेगा। वैसे आधिकारिक रूप से अभी कुछ नहीं कहा गया है, लेकिन मीडिया की खबरों में इस तरह का दावा किया जा रहा है।

जानिए किस्त की राशि बढ़कर होगी, कितने हजार रुपये

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही पीएम किसान सम्मान निधि योजना राशि को बढ़ाने की मांग चल रही है। एग्री एक्सपर्ट्स ने मिलकर सरकार के कुछ लोगों से सालाना किस्त की राशि को 6,000 रुपये से बढ़ाकर 8,000 रुपये करने का अनुरोध किया है। उन्होंने सभी सब्सिडी को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के जरिए सीधे किसानों को दिए जाने के साथ-साथ बजट 2024 में एग्री रीसर्च के लिए अतिरिक्त धनराशि देने की भी मांग कर दी है।

बजट 2024 में किसानों के लिए बड़ी सौगात, PM किसान सम्मान निधि में हुई भारी वृद्धि

इसके साथ ही 24 फरवरी, 2019 को, भूमि-धारक किसानों को उनकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए योजना का आरंभ किया गया है। सरकार का मकसद है कि कोई भी किसान खेती बाड़ी के लिए उधार ना मांगे।

जल्द जानिए पीएम किसान योजना से जुड़ी जरूरी बातें

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अनुसार, देशभर में पात्र किसान परिवारों को प्रत्यक्ष फायदा हस्तांतरण (DBT) के जरिए प्रति चार महीने में किस्तों में 6,000 रुपये सालाना के हिसाब से होता है। इसके अलावा पूरे भारत में करीब 12 करोड़ किसान इस योजना से जुड़े हुए हैं। इस डिस्ट्रीब्यूशन के साथ ही, प्रोग्राम की शुरुआत से अब तक लाभार्थियों को पेमेंट की गई कुल राशि 3.24 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा करने की बात कही गई है।

Share this story