मारुति की CNG रेंज में शामिल हुआ नया सदस्य, डबल सिलेंडर और स्पेसियस बूट के साथ!

मारुति सुजुकी के पोर्टफोलियो में सबसे ज्यादा CNG कार शामिल हैं। सभी कारें फैक्ट्री-फिटेड S-CNG प्लेटफॉर्म के साथ आती है। इस वजह से इनका परफॉर्मेंस, सेफ्टी, फीचर्स और माइलेज बेहतर हो जाता है। 
मारुति की CNG रेंज में शामिल हुआ नया सदस्य, डबल सिलेंडर और स्पेसियस बूट के साथ!
दून हॉराइज़न, नई दिल्ली

कंपनी आने वाले दिनों में अपने इस पोर्टफोलियो में कई नए मॉडल जोड़ने का प्लान कर रही है। इसमें एक नाम न्यू जेन स्विफ्ट का भी है। मारुति की CNG कारें अपने माइलेज के लिए पॉपुलर हैं। हालांकि, इन कारों में बूट स्पेस कम मिलने सबसे बड़ी कमी भी है।

मारुति की कारों में 55 से 60 लीटर का CNG टैंक और इससे जुड़े दूसरे इक्युपमेंट बूट स्पेस का बड़ा हिस्सा घेर लेते हैं। ऐसे में सामान रखने की जगह काफी कम हो जाती है। ऐसे में कंपनी अब डु्अल CNG सिलेंडर टेक्नोलॉजी लाने वाली है। जैसा कि टाटा मोटर्स अपनी CNG कारों में दे रही है।

टाटा ने अपनी कारों में 30-30 लीटर के दो CNG सिलेंडर दे रही है। कंपनी ने डुअल सिलेंडर के साथ अल्ट्रोज को सबसे पहले लॉन्च किया था। अब इसमें टियागो, टिगोर और पंच का नाम भी जुड़ चुका है।

मारुति ने अपनी नई CNG कार का टीजर जारी किया है। टीजर से पता चलता है कि मारुति सुजुकी अपने S-CNG प्लेटफॉर्म में ट्विन-टैंक सेटअप भी जोड़ेगी। खास बात ये है कि मारुति पहले से ही सुपर कैरी जैसे LCV मॉडल के साथ ट्विन टैंक सेटअप का इसतेमाल कर रही है।

सुपर कैरी CNG में ट्विन CNG टैंक व्हीकल की लंबाई के साथ जोड़े गए हैं। इसमें हर टैंक 35 लीटर कैपेसिटी वाला है। ऐसे में कंपनी अब अपने पैसेंजर व्हीकल के लिए ट्विन-टैंक सेटअप शुरू करने पर विचार कर रही है।

मारुति के S-CNG पोर्टफोलियो में अभी एंट्री लेवल ऑल्टो K10, वैगनआर, डिजायर, सेलेरियो, ईको, एस-प्रेसो, फ्रोंक्स, अर्टिगा, ब्रेजा और ग्रैंड विटारा शामिल हैं। इसमें न्यू जेन स्विफ्ट में भी जल्द ही CNG ऑप्शन मिलेगा। ट्विन CNG टैंक प्रत्येक 25-30 लीटर कैपेसिटी के हो दिए जा सकते हैं।

ट्विन टैंक सेटअप के साथ, स्पेयर टायर को बूट के नीचे ले जाया जाएगा। मारुति कारों में शॉर्ट सर्किट को रोकने के लिए डेडिकेटड मैनेनिस्ज के साथ सेफ्टी को बढ़ा रही है। पूरे CNG सेटअप को लीक-प्रूफ और जंग प्रतिरोधी बनाया गया है। एक माइक्रो स्विच यह सुनिश्चित करता है कि ईंधन भरने की प्रक्रिया के दौरान CNG कार स्टार्ट नहीं हो।

Share this story