आयुष्मान कार्ड धारक को इलाज मिलने से वंचित? तुरंत करें शिकायत, होगी कड़ी कार्रवाई!

आयुष्मान भारत योजना में शामिल अस्पताल कानूनी तौर पर योजना में शामिल बीमारियों का इलाज करने से मना नहीं कर सकते।
आयुष्मान कार्ड धारक को इलाज मिलने से वंचित? तुरंत करें शिकायत, होगी कड़ी कार्रवाई!

Ayushman Card : सरकार द्वारा गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए कई तरह की योजनाएं चलाई जाती हैं। आयुष्मान भारत योजना एक ऐसी ही जन कल्याणकारी योजना है जिसके तहत गरीब परिवारों को 5 लाख तक का मुफ्त इलाज मुहैया कराया जाता है।

इसके लिए लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड (आयुष्मान भारत कार्ड 2024) बनवाना होता है, जिसे दिखाकर जरूरतमंद लोग योजना से जुड़े बड़े अस्पतालों में भी मुफ्त इलाज करा सकते हैं। दे

शभर में कई बड़े अस्पताल आयुष्मान भारत योजना के तहत रजिस्टर्ड हैं।

अगर अस्पताल इलाज से मना करे तो क्या करें

कई अस्पताल आयुष्मान कार्ड दिखाने के बाद भी योजना में शामिल मुफ्त इलाज देने से मना कर देते हैं। ऐसी कई शिकायतें सामने आती रहती हैं। लेकिन जानकारी के अभाव में लोग अस्पताल के सामने बेबस हो जाते हैं और कुछ नहीं कर पाते।

लेकिन अगर कोई अस्पताल आयुष्मान कार्ड धारकों को मुफ्त इलाज नहीं देता है तो आप इसकी शिकायत कर सकते हैं।

ऐसी शिकायत मिलने पर सरकार मनमानी करने वाले अस्पताल पर कड़ा रुख अपनाती है। इस मनमानी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सरकार लाइसेंस तक रद्द कर सकती है।

कैसे करें शिकायत

आयुष्मान भारत योजना में शामिल अस्पताल कानूनी तौर पर योजना में शामिल बीमारियों का इलाज करने से मना नहीं कर सकते। फिर भी अगर कोई अस्पताल ऐसी मनमानी करता है तो आप टोल फ्री नंबर 14555 पर शिकायत कर सकते हैं।

अगर अस्पताल के खिलाफ की गई शिकायत सही साबित होती है तो सरकार सख्त कार्रवाई कर सकती है और उसका लाइसेंस रद्द कर सकती है।

Share this story