Dining Room Vastu: अगर चाहते है घर में सुख-शांति तो इस स्थान पर बनवाए डाइनिंग रूम

वास्तु के अनुसार हर चीज़ और जगह के लिए एक निश्चित स्थान तय किया गया है और इसी को ध्यान में रखते हुए जानिए डाइनिंग टेबल कहांरखें और वास्तु के अनुसार डाइनिंग टेबल की सबसे अच्छी पोजीशन कौन सी है।
Dining Room Vastu: अगर चाहते है घर में सुख-शांति तो इस स्थान पर बनवाए डाइनिंग रूम

वास्तु के अनुसार हर चीज़ और जगह के लिए एक निश्चित स्थान तय किया गया है और इसी को ध्यान में रखते हुए जानिए डाइनिंग टेबल कहांरखें और वास्तु के अनुसार डाइनिंग टेबल की सबसे अच्छी पोजीशन कौन सी है। सुख और भाग्य की वृद्धि के लिए भोजन कक्ष के लिए वास्तु औरसर्वोत्तम वास्तु रंगों के अनुसार खाने की मेज के आकार के बारे में भी जानें।

1- घर में डाइनिंग रूम के लिए पश्चिम दिशा सबसे अच्छी होती है।

2- डाइनिंग रूम बनाने के लिए दूसरी सबसे अच्छी जगह पूर्व दिशा है।

3- भोजन करते समय पश्चिम दिशा की ओर मुंह करें।

4- भोजन करते समय भी आपका मुख पूर्व की ओर हो सकता है।

5- भोजन कक्ष का प्रवेश द्वार पूर्व दिशा में होना चाहिए।

6- भोजन कक्ष के प्रवेश द्वार के लिए उत्तर एक और अच्छा विकल्प है।

7- डाइनिंग रूम में हवा और रोशनी के लिए वेंटिलेशन की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए।

8- डाइनिंग टेबल को पश्चिम दिशा में रखें।

9- डाइनिंग टेबल को दक्षिण और पूर्व दिशा में भी रखा जा सकता है।

10- खाने की मेज का आकार या तो आयताकार या चौकोर होना चाहिए।

11- कमरे के दक्षिण, दक्षिण–पश्चिम या पश्चिम दिशा में फर्नीचर, भारी सामान रखें।

12- पानी रखने के लिए इस कमरे की ईशान कोण दिशा का प्रयोग करें।

13- भोजन कक्ष के उत्तर या पूर्व दिशा में वॉशबेसिन बनाना चाहिए।

भूल कर भी ना करें यह ग़लतियाँ

1- दक्षिण–पश्चिम क्षेत्र में कभी भी भोजन कक्ष न बनाएं।

2- घर का मुख्य द्वार और भोजन कक्ष का प्रवेश द्वार एक दूसरे के सामने नहीं होना चाहिए।

3- डाइनिंग रूम के पास टॉयलेट बनाने से बचें।

4- दक्षिण की ओर मुख करके, वास्तु में भोजन करना वर्जित है।

5- डाइनिंग टेबल के ऊपर कोई भारी वस्तु या निर्माण नहीं होना चाहिए।

6- भोजन कक्ष के दक्षिण–पश्चिम प्रवेश द्वार से बचना चाहिए।

7- खाना खाते समय टीवी या कोई अन्य उपकरण न लगाएं जिससे शांति भंग हो।

8- डाइनिंग टेबल को दीवार के बिल्कुल बगल में न रखें।

9- उत्तर, पूर्व और उत्तर–पूर्व दिशा में भारी फर्नीचर या सामान रखना वर्जित है।

10- वास्तु सिद्धांतों के अनुसार गोल या गोलाकार खाने की मेज अच्छी नहीं होती है।

11- दक्षिण–पूर्व में वॉशबेसिन न बनाएं।

12- बच्चों को डाइनिंग टेबल के दक्षिण–पश्चिम कोने में नहीं बैठना चाहिए।

Share this story

Around The Web