धार्मिक नियम: इस दौरान ना काटें बाल और नाखून, जानिए धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

घर के बड़े-बुजुर्ग रात के समय बाल और नाखून काटने से मना करते हैं।
धार्मिक नियम: इस दौरान ना काटें बाल और नाखून, जानिए धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

धार्मिक नियम: हिंदू धर्म में कई मान्यताएं और गलतफहमियां हैं। इस गलत धारणा के कारण कई मान्यताएं एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक चली जाती हैं। ऐसी मान्यता पीढ़ी दर पीढ़ी चली आ रही है।

घर के बड़े-बुजुर्ग रात के समय बाल और नाखून काटने से मना करते हैं। लेकिन ऐसा कहने का क्या कारण हो सकता है? ऐसा कोई प्रश्न नहीं होगा। इसके पीछे धार्मिक मान्यता है, लेकिन वैज्ञानिक कारण भी है।

तो आइए जानते हैं क्या है धार्मिक मान्यता और वैज्ञानिक कारण :

धार्मिक कारण :

हिंदू धर्म रात में बाल और नाखून नहीं काटता है। ऐसा माना जाता है कि रात में बाल या नाखून काटने से लक्ष्मी की अवज्ञा होती है। इस धार्मिक मान्यता के कारण घर के बड़े-बुजुर्ग रात में बाल और नाखून काटने से मना करते हैं।

वैज्ञानिक कारण :

रात में बाल और नाखून न काटने का वैज्ञानिक कारण है रात में लोग खाते-पीते, चलते-फिरते और सोते हैं। तो कटे बाल इधर-उधर गिरते हैं। कभी-कभी कटे हुए बाल खाने में लग जाते हैं।

साथ ही पेट में जाने के बाद बीमार होने की भी संभावना रहती है। वहीं बालों से गंदगी और बैक्टीरिया भी फैलते हैं। इससे रात में बाल नहीं कटते दूसरे, उस दौरान रात में घर में पर्याप्त रोशनी नहीं होती थी।

इसलिए अंधेरे में बाल और नाखून काटना नुकसानदायक हो सकता है। इसलिए सूर्यास्त से पहले बाल और नाखून काटे जाते हैं। क्योंकि अंधेरे में केप काटते समय चोट लगने की आशंका रहती है। इसलिए रात में बाल और नाखून काटना मना था।

Share this story

Around The Web