तुलसी पूजन से घर में आती है सुख-समृद्धि, लेकिन क्या आप जानते हैं पूजा के ये नियम?

तुलसी पूजन से घर में आती है सुख-समृद्धि, लेकिन क्या आप जानते हैं पूजा के ये नियम?

डिजिटल डेस्क : हिंदू धर्म में कई ऐसे पेड़-पौधे हैं, जिन्हें हम भगवान को बराबर सम्मान देते हैं. इन्हीं में से एक है तुलसी का पौधा। तुलसी के पौधे को पूजा का स्थान मिला है। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि भगवान विष्णु को भी तुलसी बहुत प्रिय है। तुलसी को इसके औषधीय गुणों के लिए भी सम्मानित किया जाता है। जिस घर में तुलसी का पौधा होता है उस घर में मां लक्ष्मी का वास होता है। इसलिए हर घर में विधि-विधान से तुलसी की पूजा की जाती है।

घर में उगाए गए तुलसी के पौधे सकारात्मक ऊर्जा का संचार करते हैं। लेकिन तुलसी के पौधे की पूजा के दौरान की गई गलतियां आपको इसका उल्टा असर भुगतना पड़ सकता है। तुलसी लगाते समय कुछ बातों का ध्यान रखें।

तुलसी पूजन करते समय इन बातों का रखें ध्यान

तुलसी के पौधे को नियमित रूप से पानी देना और उसकी पूजा करना शुभ माना जाता है। लेकिन शास्त्रों में रविवार और एकादशी के दिन तुलसी के पौधे में जल चढ़ाने की मनाही है। इस दिन शाम के समय तुलसी के पास दीपक नहीं जलाना चाहिए। साथ ही सूर्य और चंद्र ग्रहण के दिन तुलसी को जल नहीं चढ़ाना चाहिए।

तुलसी के पत्ते कभी खराब नहीं होते या बासी नहीं होते इसलिए इसके पत्तों को फेंकना नहीं चाहिए। इसे अत्यंत पवित्र माना जाता है। इसके विपरीत इन पत्तों का उपयोग पूजा में भी किया जा सकता है।

धार्मिक मान्यता है कि पूजा में उपयोग के लिए तुलसी के पत्तों को शाम के समय कभी नहीं काटना चाहिए। ऐसा करने से पाप होता है।

ऐसा माना जाता है कि तुलसी के पास घी का दीपक नियमित रूप से जलाने से घर में सुख-समृद्धि आती है।

तुलसी के पौधे के बारे में यह भी मान्यता है कि इसे दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके नहीं लगाना चाहिए। ऐसा करने से परिवार के सदस्यों को आर्थिक नुकसान हो सकता है। वहीं तुलसी को घर की उत्तर या उत्तर दिशा में लगाने से घर में सुख-समृद्धि आती है।

Share this story

Around The Web