करौली-जोधपुर के बाद भरतपुर में दो समुदाय भिड़े, कांच की बोतलों से ताबड़तोड़ हमला और पत्थरबाजी

करौली-जोधपुर के बाद भरतपुर में दो समुदाय भिड़े, कांच की बोतलों से ताबड़तोड़ हमला और पत्थरबाजी


भरतपुर, 10 मई (हि.स.)। राजस्थान में करौली और जोधपुर में हुए दंगों की आग अभी ठंडी नहीं हुई है कि भरतपुर में सोमवार देर रात दो समुदाय भिड़ गए। दोनों पक्षों की ओर से पत्थरबाजी के बाद करीब आधे घंटे तक कांच की बोतलें फेंकी गईं। झगड़े की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया। इस घटना में एक व्यक्ति घायल हुआ है जिसे आरबीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने 15 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है।

घटना बीती रात करीब 11 बजे शहर के मथुरा गेट इलाके की है। यहां बुद्ध की हाट में दो समुदायों में आपसी कहासुनी के बाद विवाद हो गया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि विवाद का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। पुलिस के अनुसार दोनों पक्षों के करीब 15 लोगों को हिरासत में लिया है। जिला पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने बताया कि पूरी सड़क पर कांच और पत्थर बिखरे हुए थे। जिन्हें पुलिस ने साफ करवा दिया। इस इलाके में कई बार दोनों समुदाय के बीच झगड़ा हो चुका है। पूरे इलाके में लोगों को पूछताछ की जा रही है। फिलहाल इलाके में शांति बनी हुई है।

मौके पर पांच थानों का जाब्ता लगाया गया है। रात को पुलिस के बड़े अधिकारी सहित जिला कलक्टर और डीसी भी मौके पर पहुंचे। मंगलवार सुबह भी प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और सुरक्षा व्यवस्था देखीं। झगड़े वाले इलाके में 100 से अधिक सुरक्षा जवानों को तैनात किया गया है।

2013 में हुए दो समुदायों के बीच हुए झगड़े में 5 आरोपित सोमवार को बरी होकर आए थे। इस पक्ष द्वारा बरी होने का जश्न मनाया जा रहा था। आरोप है कि उन्होंने डीजे और ढोल बजवाए और दूसरे पक्ष को चैलेंज किया। उनके घरों पर खाली बोतलें फेंकना शुरू कर दिया। दूसरे पक्ष ने भी बचाव में पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। करीब आधा घंटे तक पथराव और बोतलें फेंकने का क्रम चलता रहा।

हिन्दुस्थान समाचार/रोहित

Share this story

Around The Web