पूर्णिया हवाई अड्डा निर्माण का रास्ता साफ, निवेशकों का बढ़ेगा आकर्षण : उप मुख्यमंत्री

पूर्णिया हवाई अड्डा निर्माण का रास्ता साफ, निवेशकों का बढ़ेगा आकर्षण : उप मुख्यमंत्री


पटना, 10 मई (हि.स.)। पूर्णिया हवाई अड्डा निर्माण के लिए भू-अर्जन संबंधी बाधा दूर हो गई है, जिससे हवाई अड्डा के निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ है। यह जानकारी उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने मंगलवार को दी।

उन्होंने बताया कि पूर्णिया सैन्य हवाई अड्डा से संयुक्त परिचालन के लिए सिविल इनक्लेव एवं संपर्क पथ निर्माण के लिए चिन्हित अर्जित भूमि लगभग 52 एकड़ में से लगभग 34 एकड़ भूमि को अधिग्रहित किया गया है। इसे भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को नि:शुल्क हस्तांतरित करने का निर्णय हो गया है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग के अंतर्गत सिविल विमानन निदेशालय ने इस 34 एकड़ भूमि का दखल प्राप्त करने के लिए विभागीय पदाधिकारी को नामित भी कर दिया है। सरकार के इस निर्णय के उपरांत पूर्णिया हवाई अड्डा निर्माण की भू-अर्जन संबंधी बाधा के दूर हो जाने से अब निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा। हवाई अड्डा बन जाने से पूर्णिया प्रमंडल सहित संपूर्ण सीमांचल क्षेत्र के लोगों को दूर-दराज के क्षेत्रों की यात्रा करने में सुविधा होगी और निवेशकों का आकर्षण बढ़ेगा।

उन्होंने कहा कि जमीन अधिग्रहण की बाधा दूर होने के बाद पूर्णिया हवाई अड्डा पर अलग से सिविल इन्कलेव, कार्गो सहित अन्य सुविधाओं का निर्माण किया जाना है। पूर्णिया के चुनापुर में बनाने वाले हवाई अड्डा के निर्माण होने से कोसी क्षेत्र के सहरसा, सुपौल, मधेपुरा के अलावा पूर्णिया, कटिहार, अररिया, किशनगंज सहित अन्य शहर के लोगों को बागडोगरा और पटना के हवाई अड्डा तक नहीं जाना पड़ेगा।

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद 12 मई को दिल्ली में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिलकर इस महत्वपूर्ण कदम के लिए उनके प्रति आभार प्रकट करेंगे तथा पूर्णिया हवाई अड्डे का निर्माण कार्य यथाशीघ्र शुरू करने का आग्रह करेंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द

Share this story

Around The Web