नूंह की 'खूनी सड़क' पर एक और हादसा, मां समेत 2 बच्चों की मौत, दो लोग घायल

नूंह की 'खूनी सड़क' पर एक और हादसा, मां समेत 2 बच्चों की मौत, दो लोग घायल

गुरुग्राम-अलवर रोड पर गांव पाठखोरी के पास कन्टेनर की टक्कर से मां और दो उसके मासूम बच्चे की मौत हो गई जबकि महिला के पति और उसका एक बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया.

वहीं 6 माह के बच्चे को कोई चोट तक नहीं आई. इसे कुदरत का करिश्मा माना जा रहा है. फिरोजपुर झिरका पुलिस ने वाहन चालक के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाने का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. घटना से गांव और इलाके में गमगीन माहौल है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक फारुख पुत्र इसराइल निवासी पाठ खोरी शनिवार को अपनी ससुराल ओनंदा राजस्थान से मोटरसाइकिल पर अपने चार बच्चों और पत्नी के साथ गांव आ रहा था. जब वह खूनी रॉड के नाम से मशहूर गुरुग्राम-अलवर रोड पर पाठ खोरी गांव के लिए है क्रॉस कर रहा था.

तभी अचानक अलवर की तरफ से तेज रफ्तार से आ रहे कंटेनर ने मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी. जिसमें मोहम्मद साद 9 वर्ष, सादिया 10 वर्ष की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसकी पत्नी जायसा 35 वर्षीय की अस्पताल ले जाते हुए मौत हो गई.गुरुग्राम-अलवर रोड पर गांव पाठखोरी के पास कन्टेनर की टक्कर से मां और दो उसके मासूम बच्चे की मौत हो गई.

जबकि महिला के पति और उसका एक बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया. वहीं 6 माह के बच्चे को कोई चोट तक नहीं आई. इसे कुदरत का करिश्मा माना जा रहा है. फिरोजपुर झिरका पुलिस ने वाहन चालक के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाने का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. घटना से गांव और इलाके में गमगीन माहौल है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक फारुख पुत्र इसराइल निवासी पाठ खोरी शनिवार को अपनी ससुराल ओनंदा राजस्थान से मोटरसाइकिल पर अपने चार बच्चों और पत्नी के साथ गांव आ रहा था. जब वह खूनी रॉड के नाम से मशहूर गुरुग्राम-अलवर रोड पर पाठ खोरी गांव के लिए है क्रॉस कर रहा था.

तभी अचानक अलवर की तरफ से तेज रफ्तार से आ रहे कंटेनर ने मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी. जिसमें मोहम्मद साद 9 वर्ष, सादिया 10 वर्ष की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसकी पत्नी जायसा 35 वर्षीय की अस्पताल ले जाते हुए मौत हो गई.

इस घटना में 40 वर्ष के फारूक और उसके 2 साल के मोहम्मद हमजा गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि 6 माह के बच्चे को खरोच तक नहीं आई जिससे कुदरत का करिश्मा माना जा रहा है.

वहीं इलाके के लोगों का कहना है कि गुड़गांव-अलवर रोड पर आए दिन दर्जनभर मौतें हो रही है. सरकार को इसे तुरंत फोरलेन बनाना चाहिए, जिससे आम नागरिकों की मौतों को रोकना जा सके.

Share this story

Around The Web