गुरुग्राम: अवैध कॉलोनियों में रहने वालों को झटका, विकास शुल्क के रूप में देनी होगी भारी रकम

गुरुग्राम में नियमित हुई कॉलोनियों के लोगों को अब विकास शुल्क के जमा करवाने के लिए अपनी जेब ढीली करनी होगी।
गुरुग्राम: अवैध कॉलोनियों में रहने वालों को झटका, विकास शुल्क के रूप में देनी होगी भारी रकम
न्यूज डेस्क, दून हॉराइज़न, गुरुग्राम (हरियाणा)

नियमित हुई कॉलोनियों के लोगों को कलेक्टर रेट की 5 फीसदी रकम फीस निगम में विकास शुल्क के रूप में जमा करवानी होगी।

विकास शुल्क जमा किए बिना किसी भी प्रकार की जमीन या मकान की खरीद फरोख्त नहीं हो सकेगी। इन कॉलोनियों में रजिस्ट्री करवाने से पहले निगम ने एनडीसी (नो ड्यूटी सर्टिफिकेट) लेना अनिवार्य होगा। ऐसे में विकास शुल्क के नाम पर अब निगम का खजाना भरा जाएगा। हालांकि, यह पहले के विकास शुल्क दरों से 10 गुना अधिक है।

बता दें कि, पहले आवासीय क्षेत्र के लिए 120 रुपये प्रति वर्ग मीटर और व्यवसायिक के लिए एक हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर था, अब 100 गज के प्लॉट का नक्शा पास कराने के लिए दो लाख रुपये तक निगम में विकास शुल्क फीस जमा करवानी होगी।

जिस कॉलोनी में प्लॉट होगा, उस कॉलोनी या क्षेत्र के कलेक्टर रेट के हिसाब से पांच फीसदी विकास शुल्क देना होगा। इसी तरह व्यवसायिक प्लॉट के लिए भी लोगों को कई गुना ज्यादा रकम देनी होगी।

भवनों का नक्शा पास नहीं होगा

नगर निगम में नियमित हुई कॉलोनियों के लोगों विकास शुल्क हर हाल में जमा करवाना होगा। विकास शुल्क जमा किए बिना नगर निगम से ना तो भवनों का नक्शा पास हो सकेगा और ना ही किसी भी प्लॉट या मकान को बेच या खरीद सकेंगे। इन दोनों काम के लिए पहले निगम में विकास शुल्क की रसीद लगानी होगी। इसके बाद ही लोगों भवनों का नक्शा पास करवा सकेंगे।

30 से ज्यादा कॉलोनी हो चुकी हैं नियमित

नगर निगम के दायरे में अभी हाल ही में 22 कॉलोनियों को नियमित करने के लिए अधिसूचना जारी की गई है। 22 में से सात कॉलोनियां नगर निगम के दायरे की हैं। इससे पहले अक्टूबर 2023 में भी 13 कॉलोनियों को नियमित किया जा चुका है।

इन कॉलोनियों में निगम द्वारा सड़क, गली, सीवर लाइन, पानी की लाइन और स्ट्रीट लाइट आदि लगाने का काम किया जाएगा। वहीं निगम ने 103 अवैध कॉलोनियों को नियमित होने के लिए सर्वे रिपोर्ट मुख्यालय को भेजी जा चुकी है। जिसमें से 30 ज्यादा कॉलोनी नियमित हो चुकी है। 200 अवैध कॉलोनियों को लेकर निगम ने अभी सर्वे शुरू किया है।

क्यों लिया जाता है शुल्क

निगम के दायरे में नियमित हुई कॉलोनियों के लोगों को सड़क, सीवर, पानी, स्ट्रीट लाइट, पार्क समेत सभी प्रकार की सुविधाएं लोगों को उपलब्ध करवाई जाती है। नगर निगम में शामिल होने के बाद इन सभी विकास कार्यों के लिए विकास शुल्क लोगों से वसूल किया जाता है।

Share this story