सुल्तानगंज अजगैबिनाथ गंगा घाट पर डूबी विवाहिता, दो को बचाया गया

सुल्तानगंज अजगैबिनाथ गंगा घाट पर डूबी विवाहिता, दो को बचाया गया


भागलपुर, 10 मई (हि.स.)। जिले के सुल्तानगंज थाना क्षेत्र के अजगैबीनाथ गंगा घाट से मंगलवार को एक बार फिर दुखद खबर सामने आई है। दरअसल अजगैबीनाथ गंगा घाट पर उस वक्त कोहराम मच गया जब गंगा स्नान करने के दौरान गहरे पानी मे जाने के कारण एक साथ तीन बहने डूबने लगी। जिसके बाद स्थानीय लोगों की पहल से गंगा नदी में डूब रही तीन बहनों में से दो को बचा लिया गया। जबकि एक बहन अत्यधिक गहरे पानी में चले जाने के कारण वह गंगा में समा गई। स्थानीय गोताखोरों ने काफी मशक्कत की लेकिन एक बहन को नहीं ढूंढ पाए। उधर घटना के 2 घण्टे बाद भी एसडीआरएफ की टीम मौके पर नहीं पहुँची थी।

अजगैबीनाथ गंगा घाट में डूबी युवती की पहचान झारखंड राज्य अंतर्गत देवघर जिला के जटाई मोड़ निवासी अशोक माथा की 18 वर्षीय पुत्री खुशी कुमारी के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि नवविवाहित युवती अपनी बहनों के साथ मंगलवार की अहले सुबह गंगा स्नान करने सुल्तानगंज पहुंची थी। घटना के बाद से परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है।

उल्लेखनीय है कि बीते 30 दिनों के अंदर सुल्तानगंज के अजगैबीनाथ गंगा घाट पर डूबने की यह चौथी घटना है। जिसमें दो युवक और दो युवती डूबी है।ज्ञइसके बाद भी स्थानीय प्रशासन की नींद नहीं खुली है। सुल्तानगंज गंगा घाट इन दिनों खतरनाक गंगा घाट बन गया है। जहां आए दिन डूबने की घटना हो रही है। बावजूद यहां सुरक्षा की कोई ठोस व्यवस्था नहीं की गई है। यहां नियमित गंगा स्नान करने वालों की भीड़ होती है। श्रद्धालु दूर-दराज से आकर पवित्र उत्तर वाहिनी गंगा में स्नान कर अपने साथ गंगाजल ले वाहनों से अजगैबीनाथ धाम से बाबाधाम जाते रहते हैं। ऐसे में घटित घटना की गंभीरता को लेते हुए प्रशासन को यहां बैरिकेडिंग कराने की आवश्यकता है।

हिन्दुस्थान समाचार/बिजय

Share this story

Around The Web