धक्का गाड़ी से पुलिस करती है गश्ती, 15 दिनों से खराब है दूसरी गाड़ी

धक्का गाड़ी से पुलिस करती है गश्ती, 15 दिनों से खराब है दूसरी गाड़ी


भागलपुर, 10 मई (हि.स.)। जिले के अकबरनगर थाने की दो गाड़ी खराब हालत में है। जीप को धक्का देकर स्टार्ट करना पड़ रहा है। एक अन्य विक्टा गाड़ी पिछले पंद्रह दिनों से खराब होकर सड़क किनारे पड़ी हुई है। आलम यह कि न तो थाना प्रभारी इस ओर ध्यान दे रहे है और न ही गश्ती करने वाले एसआई या चालक को इसकी फिकर है। जीप की हालत यह हो गई है कि अपराधियों का पीछा करने में गाड़ी हांफने लगती है। ऐसी स्थिति में पुलिस कर्मियों को गश्ती के दौरान काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। कई बार गाड़ी बीच रास्ते में ही खराब हो गई और उसे धक्का देकर स्टार्ट किया गया। हाल के दिनों में दियारा इलाके में गश्ती करने के दौरान थाना की जीप को सड़क पर धक्का देकर स्टार्ट करते देखा गया है।

उल्लेखनीय है कि अकबरनगर थाना में एक विक्टा बोलेरो और एक जीप उपलब्ध है। पिछले एक साल से से जीप को कई बार ठीक कराकर या धक्का देकर चलाया जा रहा है। हालांकि बोलेरो की स्थिति ठीक है। लेकिन वो भी पिछले एक महीने में कई बार खराब हो चुकी है। अगर कोई अधिकारी बोलेरो लेकर निकल गए और उसी वक्त विशेष परिस्थिति में ड्यूटी में बाहर निकलने की नौबत आ जाए तो पुलिस कर्मियों के पसीने छूट जाते हैं। गाड़ी को पांच किलोमीटर तक जाने में काफी का समय लग जाता है। खराब जीप होने के चलते रात में परेशानी कई गुणा बढ़ जाती है। गाड़ी अगर रास्ते में ही खराब हो गई तो उसे धक्का देकर गंतव्य तक ले जाना पड़ता है।

नियमित मेंटेनेंस के अभाव में जीप की यह स्थिति है। गाड़ी की हालत इतनी खराब है कि दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। गश्ती के समय पुलिस जीप खुद हांफती दिखती है। वैसे तो अकबरनगर थाने की दो गाड़ियों के लिए दो चालक की प्रतिनियुक्ति तो हुई है लेकिन लोगों की माने तो सरकारी वाहन चालक काफी कम ही गश्ती के दौरान थाने की वाहन चलाते नजर आते हैं। ऐसा इसीलिए होता है कि थाने में दो गाड़ियों के लिए चार चालक को रखा गया है। जिसमें दो सरकारी व दो प्राइवेट है।

वरीय अधिकारियों के निर्देशानुसार थाने की गाड़ी चलाने के लिए प्राइवेट चालक को नहीं रखने का निर्देश दिया गया है। लेकिन अकबरनगर थाने में ठीक इसके विपरीत हो रहा है। वहीं थाना प्रभारी प्रिय रंजन ने बताया कि थाने की विक्टा गाड़ी का टायर ब्लास्ट हो गया है। जिसके चलते नियमित गश्ती में समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में विभाग को कई बार पत्र भेजा गया है।

हिन्दुस्थान समाचार/बिजय

Share this story

Around The Web