जातीय जनगणना पर तेजस्वी ने मुख्यमंत्री को 72 घंटे का दिया अल्टीमेटम

जातीय जनगणना पर तेजस्वी ने मुख्यमंत्री को 72 घंटे का दिया अल्टीमेटम


पटना, 10 मई (हि.स.)। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मंगलवार को यहां जातीय जनगणना के मसले पर नीतीश सरकार को 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया है।

तेजस्वी यादव ने राजद कार्यालय में प्रेसवार्ता में कहा कि बिहार में जातीय जनगणना को लेकर जल्द ही फैसला होना चाहिए। नीतीश कुमार जातीय जनगणना पर 72 घंटे में स्टैंड साफ करें। अब इसमें देरी बरदाश्त नहीं की जा सकती है। नीतीश सरकार को तत्काल कैबिनेट की बैठक बुलाकर बिहार में जातीय जनगणना कराने पर फैसला लेना होगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम सड़क पर उतरने को तैयार हैं। तेजस्वी ने कहा कि विधानसभा से इस पर प्रस्ताव पारित हो चुका है।

तेजस्वी ने कहा कि इस मामले के लगातार टाला जा रहा है,जबकि कुछ राज्यों में जातीय जनगणना कराई जा रही है। मुख्यमंत्री सभी लोगों से बात करें और अपनी स्थिति को स्पष्ट करें। यदि जातीय जनगणना करना चाहते है तो कब तक करेंगे यह भी बताएं। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले इसकी मांग भी पहले लगातार उठाई जा रही थी लेकिन अब उस मामले पर भी चुप्पी साध ली गयी है। जातीय जनगणना को लेकर हम मुख्यमंत्री से मिलने का समय मांगेंगे। पूछेंगे कि इस मसले पर आप क्या करने जा रहे है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हम इनके बहकावे में नहीं आएंगे। सीएम नीतीश एनडीए का चेहरा हैं। बिहार के लोग इन्हें कैसे झेल रहे हैं समझ में नहीं आता। बिहार सरकार नागपुर से चल रही है। हमलोग किसी भी हालत में जातीय जनगणना कराके रहेंगे। एक प्रश्न के उत्तर में तेजस्वी ने कहा कि महंगाई, पलायन, गरीब, बेरोजगारी, जातीय जनगणना, बिहार को स्पेशल पैकेज जैसे कोई भी मुद्दे पर चर्चा नहीं हो रही है। हम विपक्ष में हैं ऐसे में जनता के मुद्दे को उठाने की जिम्मेदारी हमारे ऊपर है। हम यह मुद्दा उठाते रहेंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द

Share this story

Around The Web