बिना दवाईयों के हो सकेगा इलाज:योग चिकित्सक की हुई झालावाड़ में नियुक्ति

बिना दवाईयों के हो सकेगा इलाज:योग चिकित्सक की हुई झालावाड़ में नियुक्ति


झालावाड़, 6 मई (हि.स.)। राजकीय आयुर्वेद जिला चिकित्सालय में अब योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अधिकारी की नियुक्ति हाल ही में झालावाड में हुई है। ऐसे में क्षेत्र के लोगों को पंचमहाभूतो से चिकित्सा का लाभ मिल सकेगा। यानी कि बीमारियों का उपचार बिना किसी औषधि के हो सकेगा।

डॉक्टर धर्मराज योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अधिकारी झालावाड़ को जिला चिकित्सालय में योग के साथ-साथ प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति को गति प्रदान करने के लिए नियुक्त किया है। ऐसे में आयुर्वेद की इस विभिन्न चिकित्सा पद्धति से रोगियों को कई गंभीर बीमारियों का इलाज बिना किसी खर्च के निःशुल्क उपलब्ध हो सकेगा। इस दौरान डॉक्टर धर्मराज ने बताया कि शरीर पंचतत्व से बना हुआ है। ऐसे में मिट्टीमहाभूत अग्नि महाभूत वायु महाभूत आकाश महाभूत एवं अन्य चिकित्सा पद्धति से रोगियों का इलाज किया जाएगा।

जटिल रोगों का आयुर्वेद में स्थाई समाधान

डॉक्टर धर्मराज ने बताया कि कई गंभीर बीमारियों का आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में स्थाई निवारण है इसमें हाई ब्लड प्रेशर लो ब्लड प्रेशर लकवा पेट संबंधी अल्सर का व अस्थमा माइग्रेन सायटिका सोरायसिस आदि कई गंभीर बीमारियों का इलाज बिना किसी दवाइयों के संभव है।

पहली बार लगाए योग चिकिसक

जिला आयुर्वेद चिकित्सालय के प्रधान चिकित्सक डॉ महेश पारीक ने बताया कि योग सहित आयुर्वेद की अन्य चिकित्सा पद्धति को बढ़ावा देने के लिए पहली बार अलग से चिकित्सक लगाए गए हैं। जबकि अब तक आयुर्वेद के अन्य चिकित्सक ही इस चिकित्सा पद्धति को देख रहे थे। ऐसे में अब अलग से चिकित्सक की नियुक्ति होने से अब रोगियों को आयुर्वेद की बेहतर चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी। जल्द ही यहां योग के क्षेत्र में लोगों को जागरूक करने के लिए जोड़ा जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ बलबहादुर

Share this story

Around The Web