लखीमपुर मामला: मृतक बहनों के परिवार का अंतिम संस्कार करने से इनकार, रखीं ये 3 शर्तें

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में सगी बहनों के साथ बलात्कार के बाद उनकी हत्या कर दी गई और पेड़ पर लटका दिया गया. हालांकि, अब मृतक लड़कियों के परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से किया इनकार कर दिया. 
लखीमपुर मामला: मृतक बहनों के परिवार का अंतिम संस्कार करने से इनकार, रखीं ये 3 शर्तें

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में सगी बहनों के साथ बलात्कार के बाद उनकी हत्या कर दी गई और पेड़ पर लटका दिया गया. हालांकि, अब मृतक लड़कियों के परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से किया इनकार कर दिया. परिजनों ने अंतिम संस्कार के लिए तीन शर्तें रखी हैं. ऐसे में मांगें पूरी नहीं होने तक परिवार ने दोनों मृतकों का अंतिम संस्कार करने से किया इनकार किया है.

बता दें कि, बीते बुधवार को तीन आरोपी किशोरियों को बहला फुसलाकर उनके घर से ले गए और फिर रेप किया. इस मामले पर परिजनों ने अंतिम संस्कार करने को लेकर तीन शर्ते रखी हैं. जहां परिजनों का कहना है कि पीड़ित परिवार को 1 करोड़ रुपए सरकार की ओर से मिले. साथ ही मृतक के परिजनों के बेटे को योग्यता अनुसार सरकारी नौकरी मिले और इस मामले में शामिल सभी आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई जाए.

दरअसल, निघासन कोतवाली क्षेत्र में दो नाबालिग दलित सगी बहनों का शव गन्ने के खेत में पेड़ पर लटकता मिला था. जहां खेत में काम पर जा रहे ग्रामीणों ने जब शव देखा तो सकते में आ गए. जिसके बाद ग्रामीणों ने आनन-फानन में इसकी सूचना लड़कियों को परिजनों और पुलिस को दी.

जानिए क्या हैं मामला?

इस मामले में जानकारी मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए थे. वहीं, गांव वालों ने तीन युवकों पर अपहरण करने और हत्या का आरोप लगाते हुए निघासन चौराहे को जाम कर दिया था. वहीं, इस घटना के बाद से ही ग्रामीण काफी गुस्से में है. हालांकि, घटना की गंभीरता को देखते हुए गांव से लेकर निघासन तक भारी फोर्स की तैनाती कर दी गई है.

SP बोले- सभी 6 आरोपी गिरफ्तार

इस दौरान लखीमपुरी खीरी एसपी संजीव सुमन ने बताया, रेप की वारदात के बाद घटना को कुल 6 लोगों ने अंजाम दिया. उन्होंने बताया कि आरोपी बहला-फुसलाकर बहनों को खेतों में लेकर गए थे. ऐसे में नामजद छोटू सहित सभी 6 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं. हालांकि, एक आरोपी जुनैद की मुठभेड़ के बाद गिरफ्तारी हुई है. बता दें कि, सभी पांचों आरोपी लालपुर गांव के रहने वाले हैं. और पीड़ित परिवार के घर से कुछ ही दूरी पर रहते हैं.

Share this story

Around The Web