बिना अनुमति शुरू की हेलीकॉप्टर सेवा, होगी कार्रवाई

बिना अनुमति शुरू की हेलीकॉप्टर सेवा, होगी कार्रवाई


हरिद्वार, 10 मई (हि.स.)। दो धामों के लिए रविवार से शुरू हुई हेली सेवा पर विवाद के बादल मंडराने लगे हैं। श्यामपुर स्थित हेलीपैड से केदारनाथ और बदरीनाथ धाम के लिए शुरू हुई हेली सेवा की जांच की जाएगी।

गौरतलब है हेली सेवा संचालकों को अभी तक वन विभाग से अनुमति नहीं मिली है। डीएफओ दीपक सिंह का कहना है कि वन विभाग से हेली सेवा के लिए अनुमति नहीं ली गई है। राजाजी टाइगर रिजर्व से अनुमति ली जानी थी। बिना अनुमति दो दिन उड़ान कैसे भरी गई इसकी जांच की जाएगी।

चार धाम यात्रा शुरू हो चुकी है। हरिद्वार से एक निजी कंपनी पिलग्रिम एविएशन की ओर से हरिद्वार के श्यामपुर स्थित एक हेलीपैड से बदरीनाथ और केदारनाथ के लिए हेली सेवा शुरू की गई है। हैरत की बात यह कि दो दिन से लगातार बगैर वन विभाग की अनापत्ति प्रमाण पत्र के हेलीकाप्टर उड़ान भर रहा है। हालांकि हेली सेवा संचालकों का कहना है कि उन्हें डीजीसीए की ओर से अनुमति प्राप्त है। श्यामपुर रेंजर वाइएस राठौर ने बताया कि सोमवार को डिप्टी रेंजर को मौके पर भेजा गया था, लेकिन हेली सेवा संचालक अनुमति पत्र नहीं दिखा पाए।

उन्होंने बताया कि बगैर अनुमति उड़ान भरने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। उपजिलाधिकारी पूरण सिंह राणा ने बताया कि फिलहाल ट्रायल के तौर पर दो धाम की यात्रा कराई जा रही है। हेली सेवा पिलग्रिम एविएशन की निदेशक ईशा सबरवाल ने बताया कि वन विभाग को भी एनओसी के लिए प्रार्थना पत्र दिया गया है, जिसे जल्द अनुमति मिलने की उम्मीद है।

हिन्दुस्थान समाचार/ रजनीकांत

Share this story

Around The Web