कभी पापा पढ़कर सुनाते थे अखबार, आज बेटी बन गई IAS; इस UPSC टॅापर की कहानी आपको कर देगी प्रेरित

UPSC Toppers Success Story: UPSC एक ऐसा ख्वाब जिसे देखते लाखों लोग हैं और पूरा चंद लोग ही कर पाते हैं.
कभी पापा पढ़कर सुनाते थे अखबार, आज बेटी बन गई IAS; इस UPSC टॅापर की कहानी आपको कर देगी प्रेरित

डिजिटल डेस्क : इस परीक्षा को पास करने के लिए लोग दिन रात एक कर देते हैं. नतीजे आने के बाद कई लोगों की सफलता के ऐसे सच सामने आते हैं

जिसे सुनकर आने वाले एस्पिरेंट्स भी प्रेरित होते हैं. ऐसे ही कुछ किस्से सोमवार से सामने आ रहे हैं जब से संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने नतीजे घोषित किए हैं. 

AIR 3 से जानें सफलता के टिप्स

इन सफलता की कहानियों में एक नाम 23 वर्षीय गामिनी सिंगला (Gamini Singla) का भी है. जो कि पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज (PEC) चंडीगढ़ से पढ़ी हुई हैं. गामिनी ने सिविल सेवा परीक्षा 2021 में तीसरा स्थान हासिल किया है.

इंजीनियरिंग से UPSC का सफर

बता दें कि गामिनी सिंगला आनंदपुर साहिब, पंजाब की रहने वाली हैं. उन्होंने 2019 में PEC से कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (CSE) में B.Tech की पढ़ाई की है.

उनका कहना है कि उन्होंने पढ़ाई भले ही इंजीनियरिंग की करी है लेकिन वो बचपन से ही IAS अधिकारी बनना चाहती थीं. इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद ही वो UPSC की तैयारी में जुट गईं थीं. 

पिता पढ़ते थे अखबार

साल 2020 में कोरोना के दौर में उन्होंने घर पर रहकर ही पढ़ाई की. गामिनी बताती हैं कि उनके परिवार ने खासतौर पर उनके पिता ने उन्हें भावनात्मक रूप से और पढ़ाई में भी बहुत मदद की है.

वे बताती हैं कि उनके पिता उनके लिए अखबार पढ़ते थे ताकि बेटी का समय बच सके.

Share this story

Around The Web