सोनू सूद के बाद ये एक्टर बने गरीबों के लिए मसीहा, इस गांव की बदल दी जिंदगी

दिग्गज अभिनेता ने केटीआर के इस ट्वीट का जवाब देते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘यह सब आपके सपोर्ट से है, प्रेरित करते रहें। सोशल मीडिया पर प्रकाश राज का यह ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है। बीते दिनों प्रकाश राज अपनी तमिल फिल्म थिरुचित्रम्बलम को लेकर सुर्खियों में थे।
सोनू सूद के बाद ये एक्टर बने गरीबों के लिए मसीहा, इस गांव की बदल दी जिंदगी

फिल्मों की दुनिया मे ऐसे कई एक्टर होते है जो विलेन के किरदार में सबके लिए बुरे होते है लेकिन रियल लाइफ मे वो बिलकुल अलग ही होते है। तो जानिए उस एक्टर के बारे मे जो फिल्मों मे है विलेन लेकिन असल जिंदगी में गरीबों के लिए भगवान से कम नहीं।

हम बात कर रहे है प्रकाश राज तमिल फिल्मों के जाने-माने अभिनेता है। प्रकाश राज अब अपने बेहद खास काम को लेकर लाइमलाइट में हैं। उन्होंने तेलंगाना के एक गांव को गोद लिया था, जिसकी प्रकाश राज ने बिल्कुल सूरत ही बदल दी है।

उन्होंने तेलंगाना के महबूब नगर के कोंडा रेड्डीपल्ली केशमपेट गांव को गोद लिया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, यह गांव प्रकाश राज ने गोद दिया है। स्थानीय विधायक के साथ मिलकर हुई शानदार प्रगति।

दिग्गज अभिनेता ने केटीआर के इस ट्वीट का जवाब देते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘यह सब आपके सपोर्ट से है, प्रेरित करते रहें। सोशल मीडिया पर प्रकाश राज का यह ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है। बीते दिनों प्रकाश राज अपनी तमिल फिल्म थिरुचित्रम्बलम को लेकर सुर्खियों में थे।

जिसे बॉक्स ऑफिस पर खूब पसंद किया गया।1998 में कृष्णा वाम्सी द्वारा निर्देशित तेलगु फिल्म अंतुपुरम के लिए एक फिल्म के लिए मणिरत्नम् के इरुवर, विशेष फिल्म (विशेष फिल्म) के लिए 1998 में एक अभिनेता के रूप में प्रकाश ने सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता है।

एक राष्ट्रीय प्रियदर्शन द्वारा निर्देशित एक तमिल फिल्म, कांचीवरम में उनकी भूमिका के लिए 2009 में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का फिल्म पुरस्कार और एक निर्माता के रूप में उन्होंने कंट्री में कथनी में सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीत लिया है।

जिसका निर्देशन उनके लंबे समय से किया गया था थिएटर दोस्त बी। प्रकाश दूसरे सत्र में शो के दौरान नींगालूम वेल्ललम ओरु कोडी की भी मेजबानी कर रहे थे।प्रकाश ने कई हिंदी फिल्मों में भी काम किया है।

लेकिन अब वो हिंदी और तेलुगु फिल्मों में भी काम करते हैं। जिन्हें फिल्म कांचीवरम में उत्कृष्ठ अभिनय के लिए वर्ष 2009 के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार के लिए चुना गया है।

Share this story

Around The Web