उत्तराखंड : बिजली का बिल अब होगा 'स्मार्ट', इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के आधार पर तय होगा लोड!

बिजली का लोड तय सीमा से ज्यादा होने पर सप्लाई गड़बड़ा गई। निगम ने पड़ताल की तो पता चला कि लोगों ने घरों में बिजली के उपकरण अधिक लगा रखे थे और कनेक्शन कम लोड का था। 
उत्तराखंड : बिजली का बिल अब होगा 'स्मार्ट', इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के आधार पर तय होगा लोड!

देहरादून : उत्तराखंड में अब घर के उपकरणों के हिसाब से बिजली कनेक्शन का लोड तय होगा और उसी के अनुरूप बिल आएगा। ऊर्जा निगम ने प्रति किलोवाट के लिए उपकरण संख्या तय कर दी है। इस बार गर्मियों में अचानक बढ़ी बिजली के लोड ने ऊर्जा निगम के मैनेजमेंट को परेशानी में डाल दिया।

बिजली का लोड तय सीमा से ज्यादा होने पर सप्लाई गड़बड़ा गई। निगम ने पड़ताल की तो पता चला कि लोगों ने घरों में बिजली के उपकरण अधिक लगा रखे थे और कनेक्शन कम लोड का था। इसे देखते हुए निगम ने प्रति किलोवाट उपकरणों की संख्या तय करते हुए लोड का फार्मेट जारी किया है।

ऊर्जा निगम के निदेशक ऑपरेशन मदन राम आर्य ने बताया कि मीटर रीडर घर-घर जाकर लोगों को उनके कनेक्शन और वास्तविक लोड की जानकारी देंगे।

ऐसे कर सकेंगे आवेदन

उपभोक्ता वेबसाइट upcl.org से भी लोड बढ़ाने का आवेदन कर सकते हैं। प्ले स्टोर से यूपीसीएल के Consumerselfservice एप डाउनलोड कर भी आवेदन कर सकते हैं।

स्वीकृत भार बिजली उपकरण

एक से दो किलोवाट लाइट, पंखे, फ्रिज, टीवी।
तीन से चार किलोवाट लाइट, पंखे, फ्रिज, टीवी, एक वॉशिंग मशीन, एक गीजर, एक एसी, मिक्सर।
पांच से आठ किलोवाट लाइट, पंखे, फ्रिज, मिक्सर, टीवी, एक वॉशिंग मशीन, दो गीजर, दो एसी, एक इंडक्शन कुक टॉप, माइक्रोवेव।
आठ से दस किलोवाट लाइट, पंखे, फ्रिज, मिक्सर, टीवी, एक वॉशिंग मशीन, तीन गीजर, तीन एसी, एक इंडक्शन कुक टॉप, माइक्रोवेव।

Share this story