क्योंकि सच जानना आपका हक़ है
क्योंकि सच जानना आपका हक़ है

नेता एप सर्वे में आम आदमी पार्टी को बढ़त, मनीष सिसोदिया ने शीर्ष स्थान प्राप्त कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पछाड़ा

नेता एप सर्वे में आम आदमी पार्टी को बढ़त, मनीष सिसोदिया ने शीर्ष स्थान प्राप्त कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पछाड़ा

नई दिल्ली : नेता एप के सर्वे में आम आदमी पार्टी (आप) को बढ़त मिलती दिखाई दे रही है। इसी सर्वे में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने विधायक के कार्यो की रेटिंग में शीर्ष स्थान प्राप्त कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी पछाड़ दिया है।

एप के सर्वे में सिसोदिया केजरीवाल से भी अधिक प्रसिद्ध बनकर सामने आए हैं। पिछले दो वर्षो में नेता एप पर 6.5 लाख उत्तरदाताओं की प्रतिक्रिया पर आधारित रेटिंग यह दर्शाती है कि दिल्लीवासी अपने राजनीतिक प्रतिनिधियों के प्रदर्शन को कैसे देखते हैं।

नेता एप के सर्वे के अनुसार, पटपड़गंज विधानसभा से उम्मीदवार और कई मंत्रालयों के प्रमुख मनीष सिसोदिया सबसे अधिक रेटिंग वाले विधायक हैं।

पांच के पैमाने पर सिसोदिया को 4.3 पॉइंट्स के साथ लोगों ने स्वीकार किया है। वहीं केजरीवाल इस पैमाने पर 3.5 के स्कोर के साथ खड़े हैं।

सिसोदिया के बाद हरि नगर से आप विधायक जगदीप सिंह, संगम विहार से आप विधायक दिनेश मोहनिया, नई दिल्ली से विधायक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और बादली विधानसभा से आप विधायक अजेश यादव का स्थान आता है।

दिलचस्प बात यह है कि आप पार्टी विधायकों से इतर शीर्ष पांच पर किसी अन्य पार्टी के विधायक अपना स्थान नहीं बना पाए हैं।

2015 के विधानसभा चुनाव में आप के 67 और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के तीन विधायक जीतकर आए थे। जबकि कांग्रेस पार्टी दिल्ली में अपना खाता भी नहीं खोल पाई थी।

जिन प्रमुख मापदंडों के आधार पर लोगों ने अपने विधायकों की रेटिंग तय की उनमें स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे क्षेत्रों में उनका प्रदर्शन शामिल था।

नेता एप की रेटिंग से पता चलता है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल दिल्लीवासियों की नब्ज पकड़ने में कामयाब रहे हैं। उनके प्रदर्शन से 71 प्रतिशत वोटर खुश हैं।

दिल्ली में आठ फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है और 11 फरवरी को चुनाव परिणाम आएंगे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More