"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

बजट 2020 : नए टैक्स में कितनी छूट, यहाँ जानिये पुराने और नए टैक्स रेट के बारें में

नई दिल्ली : वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने दूसरे आम बजट में इनकम टैक्स को लेकर बड़े बदलाव का ऐलान किया हैं. लेकिन नया बदलाव बहुत पेचीदा हैं. अगर आप नई दरों से कर अदायगी करते हैं तो आपको टैक्स में मिलने वाली करीब 70 रियायतों को छोड़ना पड़ेगा. पहले बीमा, निवेश, घर का रेंट,
  

बजट 2020 : नए टैक्स में कितनी छूट, यहाँ जानिये पुराने और नए टैक्स रेट के बारें में

नई दिल्ली : वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने दूसरे आम बजट में इनकम टैक्स को लेकर बड़े बदलाव का ऐलान किया हैं. लेकिन नया बदलाव बहुत पेचीदा हैं.

अगर आप नई दरों से कर अदायगी करते हैं तो आपको टैक्स में मिलने वाली करीब 70 रियायतों को छोड़ना पड़ेगा. पहले बीमा, निवेश, घर का रेंट, मेडिकल, बच्चों की स्कूल फीस जैसी कुल 100 रियायतें दी गई थीं जबकि अब नए टैक्स स्लैब में 70 रियायतों को खत्म कर दिया गया है.

आपको बता दें कि नए टैक्स स्लैब के मुताबिक, 5 लाख से 7.5 लाख रुपये तक की सालाना आय वालों को अब 20 फीसदी के मुकाबले सिर्फ 10 फीसदी की दर से ही टैक्स चुकाना होगा. वहीं, जिनकी सालाना आय 7.5 लाख रुपये से 10 लाख रुपए तक है, उन्हें सिर्फ 15 फीसदी की दर से ही टैक्स भरना होगा.

नई टैक्‍स व्‍यवस्‍था को अपनाने वाले चैप्‍टर VIए (80सी, 80सीसीसी, 80सीसीडी, 80डी, 80डीडी, 80डीडीबी, 80ई, 80ईई, 80ईईए, 80ईईबी, 80जी, 80जीजी, 80जीजीए, 80जीजीसी, 80आईए, 80-आईएबी, 80-आईएसी, 80-आईबी, 80-आईबीए इत्‍याद‍ि) के तहत उपलब्‍ध किसी भी डिडक्‍शन को क्‍लेम नहीं कर सकेंगे.

नई व्‍यवस्‍था को अपनाने पर आपको इन छूट का फायदा नहीं मिलेगा…
  • लीव ट्रैवल अलाउंस जो चार साल के ब्‍लॉक में दो बार नौकरीपेशा कर्मचारियों को मिलता हे.
  • हाउस रेंट अलाउंल जो अमूमन कर्मचारी को सैलरी के तौर पर मिलता है.
  • नौकरीपेशा कर्मचारियों को उपलब्‍ध 50,000 रुपये तक स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन.(4) सेक्‍शन 16 में एंटरटेनमेंट अलाउंस और एम्‍प्‍लॉयमेंट/प्रोफेशनल टैक्‍स के लिए डिडक्‍शन.
  • होम लोन के भुगतान पर टैक्‍स बेनिफिट.
  • सेक्‍शन 57 के क्‍लॉज (iia) के अंतर्गत 15,000 रुपये का डिडक्‍शन. यह डिडक्‍शन फैमिली पेंशन पर मिलता है.
  • सेक्‍शन 80सी के तहत मिलने वाले क्‍लेम भी चले जाएंगे. इसमें ईएलएसएस, एनपीएस, पीपीएफ इत्‍यादि में निवेश शामिल है.
  • सेक्‍शन 80डी के तहत मेडिकल इंश्‍योरेंस के प्रीमियम पर क्‍लेम किया जाने वाला डिडक्‍शन.
  • सेक्‍शन 80डीडी और 80डीडीबी के तहत डिसेबिलिटी पर टैक्‍स बेनिफिट.
  • सेक्‍शन 80जी के तहत एजुकेशन लोन पर ब्‍याज के भुगतान पर टैक्‍स ब्रेक.
  • सेक्‍शन 80जी के तहत चैरिटेबल इंस्‍टीट्यूशन को डोनेशन पर टैक्‍स ब्रेक.

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story