क्राइम

Shraddha Murder Case: लापरवाही के आरोपों के बाद मानिकपुर और तुलिंज थानों के अफसरों के खिलाफ होगी जांच

Harpreet । DHNN
11 Dec 2022 8:50 AM GMT
Shraddha Murder Case: लापरवाही के आरोपों के बाद मानिकपुर और तुलिंज थानों के अफसरों के खिलाफ होगी जांच
x
Shraddha Murder Case: श्रद्धा वालकर की जघन्य हत्या के मामले में पुलिस विभाग की लापरवाही को लेकर सवाल उठने के बाद अब मानिकपुर और तुलिंज पुलिस स्टेशन के पुलिस अधिकारियों के खिलाफ विभागीय जांच का आदेश दिया गया है.

मुंबई : श्रद्धा मर्डर केस में लापरवाही बरतने के आरोपों के बाद मानिकपुर और तुलिंज पुलिस स्टेशन के पुलिस अधिकारियों के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं. सूत्रों के मुताबिक श्रद्धा के पिता विकास वालकर के आरोपों के बाद मीरा भायंदर वसई विरार पुलिस के आला अधिकारियों ने इस जांच के आदेश दिए हैं.

एक डीसीपी लेवल के अधिकारी को इस पूरे मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है. सूत्रों के मुताबिक जांच में अगर दोनों पुलिस स्टेशनों के अधिकारियों की लापरवाही पाई गई तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. शुक्रवार को श्रद्धा के पिता विकास वालकर ने दोनों पुलिस स्टेशनों पर केस के शुरुआत में लापरवाही बरतने का गंभीर आरोप लगाया था.

सूत्रों के मुताबिक इस बात की जांच के लिए डीसीपी स्तर की विभागीय जांच शुरू की गई है कि क्या तुलिंज और मानिकपुर पुलिस थानों ने श्रद्धा वालकर हत्याकांड में गंभीर चूकें कीं हैं. मीरा भायंदर वसई विरार (एमबीवीवी) पुलिस मुख्यालय के एक सूत्र ने कहा कि अगर अधिकारियों को कोई बड़ी चूक का दोषी पाया जाता है, तो उन्हें कड़ा दंड दिया जाएगा.

एमबीवीवी पुलिस के डीसीपी (मुख्यालय) प्रशांत गायकवाड़ ने कहा कि डीसीपी सुहास बावचे को विभागीय जांच करने के लिए कहा गया है. अब तक कि जांच के दौरान यह पता चला कि आफताब पूनावाला की पिटाई के बाद श्रद्धा वालकर ने अपने सूजे हुए चेहरे और पूरे शरीर पर लगे कई घावों के साथ सबसे पहले तुलिंज पुलिस स्टेशन का रुख किया था.बताया जाता है कि इसके अलावा आफताब ने श्रद्धा को मार डालने, उसे कई टुकड़ों में काटने और दूर फेंकने की धमकी दी थी.

श्रद्धा ने एफआईआर दर्ज करने के लिए नवंबर 2020 में तुलिंज पुलिस को एक लिखित शिकायत भी सौंपी थी. लेकिन उन्होंने तुरंत कार्रवाई नहीं की. एक दिन बाद पूनावाला के माता-पिता के अनुरोध पर उसने अपनी लिखित शिकायत वापस ले ली. पुलिस अब जांच करेगी कि क्या तुलिंज पुलिस ने पूनावाला के खिलाफ श्रद्धा की नवंबर 2020 की शिकायत को लेकर कोई गंभीर चूक की है.

9 दिसंबर को श्रद्धा वालकर के पिता विकास ने भी तुलिंज और मानिकपुर पुलिस पर तेजी से कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया था. विकास ने अगस्त के मध्य में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराने के लिए मानिकपुर पुलिस से संपर्क किया था. लेकिन पुलिस ने कथित तौर पर उसे लौटा दिया. वह सितंबर में फिर से मानिकपुर थाने गए, लेकिन उनकी गुहार नहीं सुनी गई.

Next Story