क्योंकि सच जानना आपका हक़ है
क्योंकि सच जानना आपका हक़ है

दिल्ली विधानसभा चुनाव : चुनाव प्रचार में भोजपुरी कलाकारों ने झोंकी अपनी पूरी ताकत

दिल्ली विधानसभा चुनाव : चुनाव प्रचार में भोजपुरी कलाकारों ने झोंकी अपनी पूरी ताकत

नई दिल्ली : दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए 8 फरवरी को होने वाले मतदान के लिए गुरुवार शाम (आज) 5 बजे चुनाव प्रचार थम गया । पार्टी सूत्रों ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पूरी ताकत के साथ जबरदस्त चुनाव प्रचार किया।

सभी स्टार प्रचारकों सहित खुद पार्टी के पूर्व अध्यक्ष एवं गृहमंत्री अमित शाह से लेकर पार्टी अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने धुंआधार रैली और नुक्कड़ सभाएं की हैं।

सूत्रों ने कहा कि प्रचार के अंतिम दिन भी पार्टी जबरदस्त प्रचार कर रही है। भाजपा ने अपने सभी बड़े चेहरों को चुनाव-प्रचार में उतार दिया है। केंद्रीय मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक और सांसदों से लेकर विधायकों तक ने दिल्ली के चुनावी अखाड़े में पार्टी के लिए वोट मांगे, लेकिन इस सब से इतर दिल्ली में भाजपा से जुड़े कई भोजपुरी सिनेमा स्टार भी सघन चुनाव प्रचार करते दिखे।

इनमें पार्टी सांसद रवि किशन, दिनेश लाल यादव (निरहुआ) और अभिनेत्री स्वीटी छाबड़ा प्रमुख रहे। पार्टी कार्यकर्तार्आ ने कहा कि भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ ने तो दिल्ली में 30 से ज्यादा सभाओं को संबोधित किया।

उन्होंने कहा भाजपा उम्मीदवारों के लिए निरहुआ जगह-जगह प्रचार करते दिखे। निरहुआ ने औसतन रोज चार सभाओं को संबोधित किया। निरहुआ सुबह से शाम तक सभाएं करते दिखे। निरहुआ की सभाएं ऐसी स्थानों पर हुईं, जहां उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों की संख्या अधिक है। गौरतलब है कि भाजपा की रणनीति पूर्वाचली वोट को पार्टी के पक्ष में मतदान के लिए प्रेरित करने की रही है।

लिहाजा, कई भोजपुरी सिनेमा स्टार प्रचारकों को दिल्ली में लगाया गया। इनमें सबसे अधिक सभाएं दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ की रहीं। भाजपा चुनाव प्रचार का मीडिया प्रबंधन देख रहे मनोज यादव ने कहा निरहुआ एक ओजस्वी वक्ता हैं और भोजपुरी फिल्मों के सुपर स्टार हैं, उनका अपना आभा मंडल है। लोग उनके प्रति आकृष्ट हो जाते हैं, इसलिए सिनेमा जगत से आए प्रचारकों में उनकी सभाएं अधिक हुई हैं।

दूसरी ओर, सासंद रवि किशन शुक्ला को भी दिल्ली में चुनाव प्रचार में लगाया गया। उनकी दिल्ली में तकरीबन 20 से ज्यादा सभाए कराई गईं। पार्टी ने सभी सिनेमा अभिनेताओं को सभा में उठाए जाने वाले मुद्दों की सूची सौंपी थी। सभी को साफ-साफ ताकीद किया गया था कि केजरीवाल सरकार के कामकाज की और शाहीनबाग को ही सभाओं में प्रमुखता से उठाए।

लिहाजा, सभी भोजपुरी सिनेमा स्टारों ने पूर्वाचली अस्मिता को भी खूब भुनाने की कोशिश की। भाजपा नेता ने कहा इन दोनों अभिनेताओं के साथ-साथ पर्दे पर अभिनेत्री के रूप में हिट रहीं स्वीटी छाबड़ा को भी पार्टी ने प्रचार में उतारा।

स्वीटी से भाजपा ने ज्यादातर रोड शो करवाएं हैं। इन तीनों सिनेमा स्टार प्रचारकों से ज्यादातर सभाएं दिल्ली के उपनगरीय इलाकों में करवाई गईं। गौरतलब है कि दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी खुद भी भोजपुरी फिल्मों में अभिनय और गायन कर चुके हैं।

बतौर अध्यक्ष तिवारी की सभाएं यूं तो दिल्ली के सभी इलाकों में होनी चाहिए थी, लेकिन उनका भी फोकस ज्यादातर दिल्ली के पूर्वाचली बहुल इलाकों में रहा। इन इलाकों में तिवारी ने 40 से ज्यादा सभाएं की हैं। गौरतलब है कि दिल्ली में 30 से 32 फीसदी तक मतदाता पूर्वाचली हैं, जो 25 सीटों पर निर्णायक भूमिका निभाने की स्थिति में हैं।

यही वजह है कि भाजपा इन वोटरों को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही है। बिहार और उत्तरप्रदेश के नेताओं की सबसे बड़ी फौज ने दिल्ली में ही कैंप कर रखा है, ताकि वोट के लिए मतदाताओं से अपील की जा सके। इतना ही नहीं, भाषा और क्षेत्र विशेष को ध्यान में रखकर प्रचार की रणनीति तैयार की गई है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More