"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी का 7वां दीक्षांत समारोह 30 को

  
आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी का 7वां दीक्षांत समारोह 30 को

जयपुर : उच्च शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में अग्रणी प्रतिष्ठित संस्थान आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी का 7वां दीक्षांत समारोह 30 जुलाई, 2021 को शाम 6 बजे से 7.30 बजे तक आयोजित किया जाएगा। इस दौरान 260 विद्यार्थी मास्टर्स डिग्री हासिल करेंगे, जबकि 7 छात्रों को डाॅक्टरेट की उपाधि प्रदान की जाएगी।

कोविड-19 के कारण यूनिवर्सिटी लगातार दूसरे साल वर्चुअल मोड में दीक्षांत समारोह का आयोजन कर रहा है। ड‚. विश्व मोहन कटोच, प्रेसीडेंट (जेआईपीएमईआर, पुडुचेरी और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, मदुरै) मुख्य अतिथि के रूप में दीक्षांत भाषण देंगे।

प्रसिद्ध सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ और आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के चेयरपर्सन ड‚. एस.डी. गुप्ता दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता करेंगे। प्रसिद्ध हेल्थकेयर उद्यमी और अपोलो ह‚स्पिटल्स ग्रुप की जाॅइंट मैनेजिंग डायरेक्टर ड‚. संगीता रेड्डी और यूएस स्थित हेल्थकेयर स्टार्ट-अप डे टू डे हेल्थ के फाउंडर और सीईओ श्री प्रेम शर्मा विशिष्ट अतिथि के रूप में दीक्षांत समारोह को संबोधित करेंगे।

कार्यक्रम के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट ड‚. पी. आर. सोडानी ने कहा, ‘‘मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि कोविड-19 द्वारा उत्पन्न चुनौतियों के बावजूद आज हम इस दीक्षांत समारोह को लेकर बेहद उत्सुक हैं।

इसकी वजह यह है कि हमारे छात्रों ने सभी क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन किया है। हालांकि अधिकांश गतिविधियाँ अ‚नलाइन आयोजित की गई हैं, फिर भी हमारी अनुभवी और समर्पित फैकल्टी टीम की मदद से हम ग्रेजुएशन करने वाले अपने छात्रों के लिए टीचिंग और लर्निंग के साथ-साथ बेहतर उद्योग इंटर्नशिप का इंतजाम कर सके और इसके साथ ही उन्हें प्लेसमेंट के बेहतर अवसर भी प्रदान कराने में कामयाब रहे हैं।’’

ड‚. सोडानी ने जानकारी दी कि इस वर्ष 176 छात्रों ने हाॅस्पिटल एंड हेल्थ मैनेजमेंट में एमबीए की डिग्री, 56 विद्यार्थियों ने फार्मास्युटिकल मैनेजमेंट में और 26 छात्रों ने डेवलपमेंट मैजमेंट (रूरल डेवलपमेंट सहित) में डिग्री हासिल की है। इनमें से ज्यादातर छात्रों को कैंपस प्लेसमेंट के जरिए पहले ही अलग-अलग संगठनों में नियुक्ति मिल चुकी है।

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के चेयरपर्सन, ड‚. एस. डी. गुप्ता ने इस अवसर पर कहा, ‘‘आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी की विशिष्ट शोध-केंद्रित संस्—ति हमारे छात्रों को उनके चुने हुए क्षेत्र में प्रभावी कामकाज के लिए आवश्यक कौशल और –ष्टिकोण विकसित करने का अवसर प्रदान करती है। हमारा मानना है कि आज की ग्लोबल दुनिया में, संगठनों को ऐसे अग्रणी कार्यकारी लोगांे की आवश्यकता है जो समर्पण और सेवा-मानसिकता के साथ उभरती चुनौतियों का समाधान प्रदान कर सकें।

इंस्टीट्यूशनल शिक्षा के बारे में हमारे 36 वर्ष से अधिक के अनुभव से हमें स्वास्थ्य प्रबंधन और विकास प्रबंधन में टीचिंग और लर्निंग के क्षेत्र में लगातार नया करने में मदद मिलती है। हम स्वायत्तता के ढांचे पर काम करते हैं जहां हमारे विश्व स्तरीय संकाय सदस्य छात्र को अपनी प्रतिभा और कौशल का अच्छी तरह पता लगाने के योग्य बनाते हैं, जिससे वे समाज में अपनी ओर से महत्वपूर्ण योगदान दे सकें।’’

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी (पूर्व में इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ हेल्थ मैनेजमेंट रिसर्च) स्वास्थ्य देखभाल प्रबंधन, विकास प्रबंधन और अन्य संबद्ध क्षेत्रों के विशिष्ट क्षेत्रों में शिक्षण, अनुसंधान, प्रशिक्षण, आउटरीच और परामर्श में जुटा हुआ है।

यूनिवर्सिटी में हाॅस्पिटल एंड हेल्थ मैनेजमेंट में पूर्णकालिक एमबीए,  एमबीए फार्मास्युटिकल मैनेजमेंट, एमबीए डेवलपमेंट मैनेजमेंट (रूरल डेवलपमेंट सहित) कार्यक्रम प्रदान करता है। इसके अलावा, यूनिवर्सिटी में रिसर्च-डिग्री प्रोग्राम ड‚क्टर अ‚फ फिल‚सफी (पीएचडी) और एक सहयोगी मास्टर अ‚फ पब्लिक हेल्थ प्रोग्राम (ज‚न ह‚पकिंस यूनिवर्सिटी, यूएसए के साथ) है।

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी प्रतिष्ठित संगठनों में नियुक्ति के लिहाज से अपने छात्रों के लिए प्रभावी प्लेसमेंट प्रोग्राम प्रदान करता है। आईआईएचएमआर के कुछ प्रमुख कैंपस रिक्रूटर्स हैं- रिलायंस फाउंडेशन, वाटर एड, विदर्भ कंजर्वेशन सोसाइटी, स्टेट रूरल लाइवलीहुड प्रोजेक्ट्स, जीएसडब्ल्यूएमए, एब‚ट, अपोलो म्यूनिख, एक्सेंचर, एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट, अरेबिया होल्डिंग्स, शेल्बी ह‚स्पिटल्स, जीएसके- ग्लैक्सो स्मिथक्लाइन, डेल‚इट, जिंदल इंस्टीट्यूट अ‚फ मेडिकल साइंसेज, नारायणा हृदयालय ह‚स्पिटल, नारायणा हेल्थ, बैंगलोर, नोवार्टिस, केयर इंडिया।

एमबीए कार्यक्रमों के अलावा, आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, जयपुर विभिन्न अन्य कौशल केंद्रित कार्यक्रम भी प्रदान करता है। पीजी डिप्लोमा इन सीएसआर और सस्टेनेबल डेवलपमेेंट और पीजी डिप्लोमा इन हेल्थ एंटरप्रेन्योरशिप को राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क (एनएसक्यूएफ) के तहत यूनिवर्सिटी अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा अनुमोदन प्राप्त है। यूनिवर्सिटी के कार्यकारी डिग्री कार्यक्रमों में मास्टर अ‚फ पब्लिक हेल्थ (एग्जीक्यूटिव) और मास्टर अ‚फ ह‚स्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन (एग्जीक्यूटिव- प्रत्येक 2 साल) भी शामिल हैं।

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ने अपने सेंटर फ‚र इनोवेशन, इनक्यूबेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप (सीआईआईई) के माध्यम से एंटरप्रेन्योरशिप और इनक्यूबेशन को बढ़ावा देने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास किए हैं। यह लोगों को उद्यमिता कौशल सिखाने और सामाजिक लाभों से जुड़ी विचार प्रक्रियाओं के विकास की पहलों में से एक है। सीआईआईई की स्थापना एक समर्पित बिजनेस इनक्यूबेशन फेसिलिटी के माध्यम से स्टार्ट-अप, व्यावसायिक उपक्रमों और इंट्राप्रेन्योरशिप के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए की गई है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story