"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

26/11 की 13वीं वर्षगांठ : मुंबई ने बहादुरों, पीड़ितों को दी श्रद्धांजलि

मुंबई, 26 नवंबर (आईएएनएस)। मुंबई के 26/11 आतंकी हमले को आज 13 साल हो गए हैं। मुंबई हमले में जान गंवाने वाले सुरक्षा कर्मियों और लोगों को आज श्रद्धांजलि दी गई। आज ही के दिन सरहद पार से आए पाकिस्तानी आतंकियों ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को निशाना बनाया था और आतंक का ऐसा तांडव मचाया था जिसे कोई भी देशवासी अब तक नहीं भूल पाया है।
  
26/11 की 13वीं वर्षगांठ : मुंबई ने बहादुरों, पीड़ितों को दी श्रद्धांजलि
26/11 की 13वीं वर्षगांठ : मुंबई ने बहादुरों, पीड़ितों को दी श्रद्धांजलि मुंबई, 26 नवंबर (आईएएनएस)। मुंबई के 26/11 आतंकी हमले को आज 13 साल हो गए हैं। मुंबई हमले में जान गंवाने वाले सुरक्षा कर्मियों और लोगों को आज श्रद्धांजलि दी गई। आज ही के दिन सरहद पार से आए पाकिस्तानी आतंकियों ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को निशाना बनाया था और आतंक का ऐसा तांडव मचाया था जिसे कोई भी देशवासी अब तक नहीं भूल पाया है।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने दक्षिण मुंबई में क्रॉफर्ड मार्केट के पास मुंबई पुलिस कमिश्नरेट परिसर के अंदर शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित कर राज्य का नेतृत्व किया।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, जो वर्तमान में स्वस्थ हो गए हैं, उन्होंने आतंकवादी हमलों के दौरान जान गंवाने वालों को सलाम किया और हमले को कायरतापूर्ण कार्य करार देते हुए आतंकवादियों से लड़ने वालों के प्रति आभार व्यक्त किया।

उन्होंने देश की वाणिज्यिक राजधानी पर हमले को रोकने और इसके प्रभाव से उबरने के लिए पुलिस और सुरक्षा बलों और मुंबई के लोगों की सेवाओं को याद किया।

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, गृह मंत्री दिलीप वलसे-पाटिल, पर्यटन मंत्री, पुलिस महानिदेशक संजय पांडे, पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले और अन्य गणमान्य लोगों ने भी शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

शोक संतप्त परिवार के सदस्यों, शहीदों के रिश्तेदारों और कई बहादुरों के साथ-साथ आम लोगों ने भी शहीद स्मारक और अन्य स्थानों पर हाथ जोड़कर, सिर झुकाकर, मोमबत्तियां जलाकर, फूल या माल्यार्पण करके दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि दी।

इनमें विधवाएं, माताएं, बेटे, बेटियां, भाई या बहन शामिल थे, जिन्होंने स्मारक तक कदम रखा और अपने दिवंगत प्रियजनों के लिए फूलों और नम आंखों के साथ अपनी व्यक्तिगत श्रद्धांजलि अर्पित की।

आतंकियों ने छत्रपति शिवाजी टर्मिनस स्टेशन के अलावा ताज होटल, होटल ओबेरॉय, कामा अस्पताल और दक्षिण मुंबई के कई स्थानों को निशाना बनाया था। इस हमले में 175 लोगों की मौत हुई थी जबकि 300 से ज्यादा लोग इस हमले में घायल हुए थे।

पारंपरिक और सोशल मीडिया में कई स्मरणीय विज्ञापन, उज्‍जवल और मार्मिक श्रद्धांजलि और 60 घंटे के संदेशों को दिखाया गया, जिसने सुरक्षा बलों द्वारा आतंकवादियों पर जीत हासिल करने से पहले दुनिया को हिला दिया था।

--आईएएनएस

एसकेके/आरजेएस

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story