क्योंकि सच जानना आपका हक़ है
क्योंकि सच जानना आपका हक़ है

कैसे फैलता है कोरोना वायरस, जानिये इससे जुड़े ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब

कैसे फैलता है कोरोना वायरस, जानिये इससे जुड़े ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब

टीम डिजिटल : कोरोना वायरस ने अब तक चीन में हज़ारों लोगों को बीमार कर दिया है और इसकी वजह से कई लोगों की जान भी चली गई है। सांस की तकलीफ को बढ़ाने वाले इस वायरस की पहचान सबसे पहले चीन के वुहान शहर में हुई। तेज़ी से फैलने वाला ये संक्रमण निमोनिया जैसे लक्षण पैदा करता है।

चीन की सरकार ने संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए प्रभावित शहरों को देश के बाकी हिस्सों से अलग करके रखा हुआ है। वहां जाना या वहां से बाहर निकलना बिल्कुल बंद है। आइए जानते हैं कि आखिर ये वायरस कैसे फैलता है। साथ ही जानें इससे जुड़े तथ्य और मिथ्य-

कैसे फैलता है कोरोना वायरस

कोरोना वायरस कई वायरसों का एक समूह है। पशुओं में यह वायरस पाया जाना सामान्य है। इस वायरस को वैज्ञानिक जूनैटिक नाम से भी पुकारते हैं। इसका अर्थ होता है पशुओं से मनुष्य में फैलने वाला वायरस। यह वायरस संक्रमित व्यक्ति के छींकने या खांसने से हवा में फैलता है।

संक्रमित व्यक्ति को छूने और हाथ मिलाने से भी यह वायरस दूसरे व्यक्ति को चपेट में ले लेता है। ऐसी सतह जिस पर वायरस हो, उसे छूने के बाद यदि आप अपने मुंह, आंख या नाक को छूते हैं, तो उससे आप भी संक्रमित हो सकते हैं। इसके अलावा, विशेषज्ञों का कहना है कि इसके संक्रमण के कारण मौत का खतरा लगभग 20 फीसदी ही है, ऐसे में यह मानकर नहीं चलना चाहिए कि संक्रमण का मतलब मौत है।

तथ्य और मिथक

क्या घर के पालतू जानवरों से भी ये वायरस फैल सकता है?

फिलहाल, अभी तक इस बात का कोई सबूत नहीं है कि घर में मौजूद पालतू जानवर जैसे- कुत्ते या बिल्ली भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं। हालांकि, जानवरों से संपर्क के बाद हमेशा अपने हाथ साबुन और पानी से धोएं। ऐसा करने से आप ई-कोली और सैलमोनेला जैसे बैक्टीरिया से बचे रहेंगे।

क्या नया कोरोना वायरस बूढ़े लोगों या युवाओं को भी प्रभावित करता है?

सभी उम्र के लोगों को कोरोना वायरस प्रभावित कर सकता है। बूढ़े लोग या फिर जो पहले से अस्थमा, डायबिटीज़ या दिल की बीमारी से ग्रस्त हैं, उनके इस वायरस से बीमार पड़ने का ज़्यादा ख़तरा है। WHO सभी उम्र के लोगों को वायरस से खुद को बचाने के लिए कदम उठाने की सलाह देता है।

क्या एंटीबायोटिक्स इस नए कोरोनावायरस को रोकने और इसके उपचार में फायदेमंद हैं?

कोरोनोवायरस की रोकथाम या उपचार के साधन के रूप में एंटीबायोटिक्स का उपयोग प्रभावी नहीं है। हालांकि, आपको कोरोना वायरस की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया जाना चाहिए। जरूरत पड़ने पर आपको एंटीबायोटिक दवाएं दी जा सकती हैं, जिनसे आपको राहत मिल सकती है, क्योंकि बैक्टीरिया के कारण अन्य बीमारियां भी पैदा हो सकती हैं।

क्या कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कोई खास दवा मौजूद है?

कोरोना वायरस की फिलहाल कोई दवा नहीं है, इससे बचाव ही इसका इलाज है। हालांकि, इस वायरस से संक्रमित लोगों को इसके लक्षणों की उचित समझ और सलाह दी जानी चाहिए।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More