क्योंकि सच जानना आपका हक़ है
क्योंकि सच जानना आपका हक़ है

केजरीवाल ने की श्रवण कुमार से अपनी तुलना, कहा – जैसे उन्होंने अपने माता पिता की सेवा की मुझे दिल्ली की सेवा करनी है

मैं दिल्ली के लोगों से प्यार करता हूं, तो मैं कैसे दिल्ली के लोगों से दवाइयों, ऑपरेशन के लिए पैसे लूँ : केजरीवाल

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने यहां रामलीला मैदान में दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर तीसरी बार शपथ ली और उन्होंने इस मौके पर कहा कि दिल्ली के लोगों ने एक नई तरह की चुनावी राजनीति को जन्म दिया है, जो कि ‘विकास की राजनीति’ है।

दिल्ली के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में उपस्थित विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए, केजरीवाल ने कहा कि देश में भविष्य की चुनावी राजनीति अब विकास के मुद्दे पर लड़ी जाएगी।

उन्होंने कहा, “दिल्लीवालों, आपने एक नई राजनीति को जन्म दिया है, जोकि परफोर्मेस की राजनीति है। अच्छे स्कूलों, स्वास्थ्य सुविधाओं, पानी, बिजली और महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने की राजनीति है।”

केजरीवाल ने दिल्ली के विकास के लिए केंद्र की तरफ भी सहयोग का हाथ बढ़ाते हुए कहा, “मैंने आज के समारोह के लिए प्रधानमंत्री को भी आमंत्रित किया था, लेकिन वह व्यस्त होने की वजह से नहीं आ सके। मैं दिल्ली के विकास और प्रगति के लिए उनसे साथ मिलकर काम करने का आग्रह करता हूं।”

केजरीवाल ने इसके साथ ही भाषण के माध्यम से अपनी राष्ट्रीय महत्वाकांक्षा को जाहिर किया। उन्होंने कहा, “जब सभी भारतीय को सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार मिलेगा, तभी तिरंगा पूरे गर्व के साथ लहराएगा।”

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रामलीला मैदान में उपस्थित विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा, “आपके बेटे ने तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। यह मेरी जीत नहीं है, यह आपलोगों की जीत है। यह दिल्ली की हर एक मां की जीत है। यह दिल्ली की हर एक बहन की जीत है। यह हर विद्यार्थी की जीत है। यह सभी दिल्लीवालों की जीत है।”

केजरीवाल ने कहा, “पांच सालों में हमारी कोशिश रही है कि कैसे दिल्ली के एक-एक परिवार में खुशी ला सकूं। हमने कोशिश की है कि कैसे हम दिल्ली का विकास करें। सबलोग अपने अपने घरों में फोन कर बोल देना। हमारा बेटा फिर से मुख्यमंत्री बन गया। अब चिंता की बात नहीं है।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “कुछ लोगों ने भाजपा, कांग्रेस और अन्य दलों को वोट दिया, लेकिन आज से मैं सबका मुख्यमंत्री हूं। मैं आप, भाजपा, कांग्रेस और दूसरी पार्टियों का भी मुख्यमंत्री हूं। मैंने कभी किसी का यह कहकर काम नहीं रोका कि तुम भाजपा से हो या कांग्रेस के हो, तो मैं तुम्हारा काम नहीं करूंगा। मुझे पता था कि कई मोहल्ले भाजपा के हैं, फिर भी मैंने वहां सड़कें बनाई हैं।”

केजरीवाल ने कहा, “मैं दिल्ली के दो करोड़ लोगों को कहना चाहता हूं कि आप चाहे किसी भी पार्टी के हों, सभी मेरे परिवार के हैं। हमें दिल्ली के लिए बहुत बड़े-बड़े काम करने हैं। चुनाव खत्म हो गए हैं, चुनाव में खूब राजनीति होती है।

किसी ने कुछ कहा, तो किसी ने कुछ। हमारे विरोधियों ने हमें जो कुछ भी बोला, हमने उन्हें माफ कर दिया है। मैं विरोधियों से निवेदन करता हूं कि चुनाव में जो भी उठापटक हुआ, उसे भूल जाओ। आओ मिलकर काम करते हैं। हम केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम करेंगे।”

govt ad side bar

उन्होंने कहा, “मैंने प्रधानमंत्री को भी न्यौता भेजा था। लेकिन वह शायद किसी कार्य में व्यस्त हैं, इसलिए नहीं आ पाए। मैं उनसे साथ काम करने का आग्रह करता हूं।” केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली वालों ने एक नई राजनीति को जन्म दिया है। दिल्ली के लोगों ने स्कूल, अस्पताल, 24 घंटे बिजली, पानी और अच्छी सड़कों और 21वीं सदी की राजनीति शुरू की है।

उन्होंने कहा, “यह है नई राजनीति और इसका डंका पूरे देश में बजने लगा है। मुझे पता चला है कि किसी सरकार ने मोहल्ला क्लीनिक बनाने शुरू कर दिए, किसी सरकार ने 75 यूनिट, किसी ने 200 यूनिट बिजली मुफ्त करने की बात कही है।

दिल्ली वालों पूरे देश में आपका डंका बज रहा है।” केजरीवाल ने कहा कि अब अगर कोई नेता कहता है कि मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल सकतीं, तो वहां के लोग कहते हैं कि दिल्ली की ओर देखो।

मुख्यमंत्री ने कहा, “आज मुझे बहुत खुशी है कि आज मंच पर मेरे साथ दिल्ली के निर्माता मौजूद हैं। दिल्ली को कोई केजरीवाल, नेता, पार्टी, बड़े-बड़े लोग नहीं चलाते। दिल्ली को यहां के ऑटो चालक, स्टूडेंट्स, डॉक्टर इत्यादि लोग चलाते हैं। आज हमारे बीच एक बच्चा मौजूद है, जो आईआईटी में पढ़ता है। वह देश को चलाएगा। ऐसे लाखों करोड़ों दिल्ली के निर्माता दिल्ली को चलाते हैं।”

उल्लेखनीय है कि विपक्ष ने केजरीवाल की मुफ्त योजनाओं पर निशाना साधा था। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा, “कुछ लोग कहते हैं कि केजरीवाल सबकुछ फ्री करता जा रहा है, दोस्तों इस दुनिया के अंदर जितनी भी अनमोल चीजें हैं, वह सब भगवान ने फ्री बनाई है। मां जब बच्चे को दूध पिलाती है, वह फ्री होता है।

श्रवण कुमार ने अपने माता-पिता को तीर्थ कराया था, उनकी मौत हो गई। वह सेवा फ्री थी। मैं भी दिल्ली के लोगों से प्यार करता हूं, तो ऐसे में मैं कैसे दिल्ली के लोगों से दवाइयों, ऑपरेशन के लिए पैसे लेने शुरू कर दूं। अगर मैं ऐसा करता हूं तो लानत है मेरी जिंदगी पर।” केजरीवाल ने अपने भाषण की समाप्ति ‘हम होंगे कामयाब’ गाकर किया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More