"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

कोविड-19 में माइक्रोसॉफ्ट और गूगल ने भी किया मदद का ऐलान

  
कोविड-19 में माइक्रोसॉफ्ट और गूगल ने भी किया मदद का ऐलान
नई दिल्ली, 26 अप्रैल (हि.स.)। विश्व की अग्रणी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई, माइक्रोसॉफ्ट के सत्य नारायण नडेला और ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटर पेट कमिंग्स ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहे भारत की मदद के लिए सामने आए हैं।
सुंदर पिचाई ने अपनी कंपनी गूगल की ओर से 135 करोड़ और अपनी ओर से 5 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। वहीं, क्रिकेटर पेट कमिंग्स ने पीएम केयर्स में 50 हजार अमेरिकी डॉलर देने की घोषणा की है।  सुंदर ने कहा कि यह धनराशि गैर सरकारी संगठन गिव इंडिया और यूनेस्को को दी जाएगी।
नडेला ने कहा है कि माइक्रोसॉफ्ट हर संभव तरीके से भारत को मदद करेगा और आर्थिक संसाधन मुहैया कराएगा।
क्रिकेटर पेट कमिंग्स ने एक ट्वीट के माध्यम से सोमवार को महामारी का मुकाबला करने के लिए अपनी ओर से आर्थिक सहायता देने की बात कही। उन्होंने कहा कि यह संकट बहुत व्यापक है और उनकी ओर से दिया जा रहा योगदान मामूली है। उन्होंने साथी खिलाड़ियों से अनुरोध किया कि वह भी अपनी ओर से आवश्यक योगदान करें।
ट्विटर पर अपने मार्मिक आलेख में उन्होंने कहा कि भारत वह देश है जिसे वह बहुत प्यार करते हैं भारतवासी बहुत खुश्दिल और दयालु प्रकृति के हैं।
उन्होंने कहा कि क्रिकेट खिलाड़ी के रूप में उन्हें यह सौभाग्य मिला है कि वह करोड़ों लोगों तक पहुंच सकते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए उन्होंने भारत के अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन मुहैया कराने हेतु पीएम केयर्स फंड में 50 हजार अमेरिकी डॉलर की धनराशि देने का निश्चय किया है। उन्होंने कहा कि उनकी ओर से दी जा रही राशि मामूली है लेकिन उन्हें आशा है कि इससे किसी ना किसी व्यक्ति के जीवन में बदलाव अवश्य आएगा।
क्रिकेटर ने महामारी के दौर में आईपीएल प्रतियोगिता जारी रखने की अनुमति दिए जाने के फैसले के लिए सरकार की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि तनाव और दुख के इस दौर में खेल के जरिए लोगों को खुशी और तनाव से दूर रहने के कुछ क्षण अवश्य मिलते हैं।
गेंदबाज खिलाड़ी आईपीएल में कोलकाता नाइटराइडर्स की ओर से खेलते हैं। उनके आर्थिक योगदान की उनके खेल प्रेमियों ने भूरी भूरी प्रशंसा की है। उनके संदेश को ट्विटर पर एक लाख से अधिक रिट्वीट मिले। 

उल्लेखनीय है कि रूस, सऊदी अरब, सिंगापुर, ब्रिटेन और अमेरिका सहित अनेक भारत को ऑक्सीजन और चिकित्सा उपकरण की आपूर्ति कर रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, विदेश मंत्री ने अपनी ओर से वक्तव्य जारी कर भारत की मदद करने का आश्वासन दिया। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक्स सेलिब्रेट ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से टेलीफोन पर बातचीत की। 

उन्होंने डोभाल को बताया कि अमेरिका भारत की अग्रिम वैक्सीन उत्पादन कंपनी सिरम इंस्टीट्यूट को उसकी वैक्सीन कोविशील्ड के निर्माण में काम आने वाले कच्चे माल की अविलंब आपूर्ति करेगा। अमेरिका ने घरेलू मांग को देखते हुए कच्चे माल के निर्यात पर रोक लगा रखी है। सिरम इंस्टीट्यूट के संचालक अदार पूनावाला ने अमेरिकी राष्ट्रपति से पिछले दिनों आग्रह किया था कि वह इस रोक को हटाए ताकि वैक्सीन उत्पादन का काम रुके नही हो।

हिन्दुस्थान समाचार/सुफल/अनूप 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story