"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

भाजपा सरकार के दबाव में काम कर रहा चुनाव आयोगः रिपुन बोरा

  
भाजपा सरकार के दबाव में काम कर रहा चुनाव आयोगः रिपुन बोरा

-100 प्लस सीटें जीतकर कांग्रेस महागठबंधन के असम में सरकार बनाने का दावा

गुवाहाटी, 07 अप्रैल (हि.स.)। दूसरे चरण में ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाये जाने के बाद चुनाव आयोग ने आश्वासन दिया था कि तीसरे चरण में कोई गड़बड़ी नहीं होगी। इसके बावजूद तीसरे चरण में भी ईवीएम मिलने की घटना सामने आई है। ये बातें बुधवार को असम प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही।

 

उन्होंने दावा किया कि असम विधानसभा चुनाव में कांग्रेस नेतृत्वाधीन महागठबंधन भाजपा से अधिक सीटें प्राप्त करेगा। महागठबंधन 100 प्लस सीटें जीतकर राज्य में सरकार बनाने जा रहा है। साथ ही उन्होंने एजेपी और राइजर दल आदि सभी भाजपा विरोधी दलों को महागठबंधन में शामिल होकर भाजपा विरोधी शक्ति को मजबूत करने का उन्होंने आह्वान किया। ज्ञात हो कि चुनाव पूर्व कांग्रेस ने एजेपी और राइजर दल को अपने महागठबंधन में शामिल कराने के लिए पूरा जोर लगाया था लेकिन दोनों दल कांग्रेस के साथ नहीं गये।

 

रिपुन बोरा ने स्ट्रांग रूम के सीसीटीवी के लिंक सभी उम्मीदवारों को देने का आह्वान करते हुए चुनाव आयोग पर भाजपा सरकार के दबाव में काम करने का गंभीर आरोप लगाया। रिपुन बोरा ने कहा कि विभिन्न प्रकार की विसंगतियों के संबंध में आरोप लगाए जाने के बावजूद चुनाव आयोग ने कोई कदम नहीं उठाया है। इस मामले में आयोग को जनता के सामने स्पष्ट तरीके से बातों को साझा करना चाहिए।

 

उन्होंने कहा कि असम में भाजपा का पराजित होना निश्चित है, यही कारण है कि भाजपा के दबाव में चुनाव आयोग आरोपों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। साथ ही कहा कि अगर आयोग सीसीटीवी का लिंक नहीं देता है तो सभी उम्मीदवारों को अपना सीसीटीवी कैमरा लगाने की अनुमति देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सीसीटीवी के मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी ने गत 28 मार्च को ही आयोग को एक पत्र लिखकर अपनी बातों को पहुंचाया था लेकिन आयोग की ओर से कोई उत्तर प्राप्त नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि सीसीटीवी का लिंक मिलने पर प्रत्येक उम्मीदवार स्ट्रांग रूम की बेहतर तरीके से निगरानी कर पाएंगे।

 

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार पर हमें विश्वास नहीं है। गत 04 अप्रैल को कांग्रेस महागठबंधन के सभी उम्मीदवारों से स्ट्रांग रूम की 24 घंटे पहरेदारी करने के लिए लोगों को तैनात करने के लिए कहा गया है। साथ ही उन्होंने आम जनता से भी इस मामले में पूरी तरह से सतर्क रहने का आह्वान किया। रिपुन बोरा ने कहा कि तीन चरणों में हुए मतदान के बाद हमने तथ्यों की जो समीक्षा की है, उसके अनुसार महागठबंधन की सरकार बननी तय है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन स्वीप करेगा।

 

विवादास्पद लेखिका शिखा शर्मा की गिरफ्तारी के संदर्भ में रिपुन बोरा ने कहा कि भाजपा समर्थकों द्वारा सामूहिक बलात्कार करने की सोशल मीडिया में धमकी दिये जाने संबंधी पोस्ट वायरल की गई, ऐसे लोगों को क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया। साथ ही पत्रकारों को धमकी देने वाले मंत्री पीयूष हजारिका को गिरफ्तार नहीं किये जाने को लेकर भी उन्होंने सवाल उठाया।

 

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने राताबारी के भाजपा विधायक की गाड़ी से ईवीएम बरामद होने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं किये जाने को लेकर भी सवाल खड़ा किया। इसके अलावा पूर्व गुवाहाटी विधानसभा क्षेत्र के विधायक व मंत्री सिद्धार्थ भट्टाचार्य के समर्थकों द्वारा मतदान केंद्रों पर लिफलेट वितरण करने के दौरान पुलिस द्वारा गिरफ्तारी की घटना को लेकर विधायक की भूमिका की भी रिपुन बोरा ने कड़ी आलोचना की।

 

उन्होंने छत्तीसगढ़ में शहीद हुए राज्य के वीर सपूतों के परिजनों का हालचाल लेने के लिए उनके घर जा रहे कांग्रेसी दल को सरकार द्वारा बाधित करने का भी गंभीर आरोप लगाया।

 

हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद

 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story