क्योंकि सच जानना आपका हक़ है
क्योंकि सच जानना आपका हक़ है

विपक्ष पर बरसे मोदी, आजादी के बाद पहली बार अपनी सरकार में हुए 30 बड़े फैसलों को गिनाकर दिल्ली विधानसभा में मांगा वोट

विपक्ष पर बरसे मोदी, आजादी के बाद पहली बार अपनी सरकार में हुए 30 बड़े फैसलों को गिनाकर दिल्ली विधानसभा में मांगा वोट

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी के बाद पहली बार अपनी सरकार में हुए 30 बड़े फैसलों और कामों को गिनाकर दिल्ली विधानसभा में वोट मांगा है। उन्होंने आजादी के बाद से लटके इन कार्यो को लेकर पिछली सरकारों की नीयत पर सवाल भी उठाए।

एक घंटे से अधिक के भाषण में पीएम मोदी विपक्ष पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि यह केवल भाजपा है जो कहती है वो करती है। पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का भारत, नफरत की राजनीति से नहीं, विकास की राष्ट्रनीति से चलेगा।

यहां कड़कड़डूमा के सीबीटी ग्राउंड में पहली चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने भाषण की शुरुआत में अपनी सरकार के कामकाज की रिपोर्ट पेश की। उन्होंने कहा कि सरकार ने आजादी के बाद से अटके और लटके कामों को सुलझाने का काम किया है।

पीएम मोदी ने कहा, “आज विपक्ष ही नहीं कई मित्र भी कहते हैं कि इतनी तेजी से काम करने की जरूरत ही क्या है? अगर देश को तेजी से विकास के रास्ते पर ले जाना है तो दशकों पुरानी समस्याओं और चुनौतियों से मुक्ति पाना होगा। यही जनादेश है और इसी आदेश पर हम काम कर रहे हैं।”

ये काम मोदी ने गिनाए

पीएम मोदी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव की अपनी इस पहली रैली में सरकार के लिए कुल 30 अहम फैसलों की चर्चा की। मोदी ने सवाल-जवाब की शैली में अपने कार्यकाल के दौरान हुए बड़े फैसलों और कामों के बारे में कुछ यूं कहा, “अनुच्छेद 370 से मुक्ति कितने साल बाद मिली?

70 साल बाद, भारत-बांग्लादेश सीमा विवाद कितने साल बाद हल हुआ.70 साल बाद, सीएए से शरणार्थियों को नागरिकता का अधिकार कितने साल बाद मिला-70 साल बाद। राम जन्मभूमि पर फैसला आजादी के कितने साल बाद आया- 70 साल बाद।”

प्रधानमंत्री मोदी ने शहीद जवानों और पुलिसकर्मियों के लिए बने मेमोरियल, बोडो आंदोलन का समाधान निकलने बेनामी शत्रु संपत्ति कानून, ब्रू शरणार्थियों का समझौता, जीएसटी लागू होने, 84 के सिख दंगे को दोषियों को सजा मिलने, वायुसेना को नेक्स्ट जेनरेशन का लड़ाकू विमान, पूर्व सैनिकों को वन रैंक वन पेंशन देने के फैसले की भी चर्चा की।

प्रधानमंत्री मोदी ने कामों की फेहरिश्त की चर्चा को आगे बढ़ाते हुए कहा, “पहली बार लाल बत्ती के रौब से भारतीयों को मुक्ति मिली, सामान्य वर्ग के गरीबों को आरक्षण का अधिकार मिला, पांच लाख रुपये तक की आय पर इनकम टैक्स जीरो हुआ।

पहली बार किसानों, मजदूरों और व्यापारियों को पेंशन की सुविधा मिली। पहली बार 50 करोड़ गरीबों को पांच लाख रुपये तक मुफ्त इलाज की सुविधा मिली। पहली बार आठ करोड़ गरीबों की रसोई में गैस कनेक्शन पहुंचा, दस करोड़ परिवारों के घर टॉयलेट बना, मुस्लिम बहनों को तीन तलाक से मुक्ति मिली।”

प्रधानमंत्री मोदी ने इन फैसलों के होने के पीछे सरकार की नीयत साफ होने का हवाला दिया। उन्होंने कहा, “जब नीयत साफ होती है, तभी फैसले लिए जाते हैं, तभी सही विकास हो पाता है। 21वीं सदी में दिल्ली का विकास और तेज गति से हो, आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्च र हो, यही हमारी प्राथमिकता है।”

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More