क्योंकि सच जानना आपका हक़ है
क्योंकि सच जानना आपका हक़ है

सीएए के विरोध-प्रदर्शन में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाले कांग्रेस और केजरीवाल गैंग के ही लोग थे : योगी आदित्यनाथ

सीएए के विरोध-प्रदर्शन में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाले कांग्रेस और केजरीवाल गैंग के ही लोग थे : योगी आदित्यनाथ

नई दिल्ली : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सीएए के विरोध-प्रदर्शन के नाम पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाले और सार्वजनिक संपत्ति को क्षति पहुंचाने वाले कांग्रेस और केजरीवाल गैंग के ही लोग थे।

ऐसा करके वह क्या चाहते हैं? इनकी मंशा को समझें। रही बात बीजेपी की तो हम इसे मां मानते हैं और मां के आंचल पर दाग लगाने वालों को बख्शेंगे नहीं।

उन्होंने कहा कि इन प्रदर्शनों के दौरान जिन लोगों ने सार्वजनिक संपत्तियों को क्षति पहुंचाई है, उनसे वसूली तो होकर ही रहेगी। यह शुरू भी हो गई है। ऐसा सिर्फ और सिर्फ बीजेपी ही कर सकती है। केजरीवाल और कांग्रेस नहीं।

योगी ने शनिवार को दिल्ली की रैलियों में कहा कि हम किसी के शोषण में नहीं यकीन रखते, पर किसी को देश में अलगाववाद, उग्रवाद और नक्सलवाद को बढ़ावा नहीं देने देंगे। कश्मीर में आतंकवाद कांग्रेस की देन है।

डॉ. भीमराव आंबेडकर के विरोध और चेतावनी के बाद भी अपने राजनीतिक हित में कांग्रेस ने संविधान में अनुच्छेद-370 जोड़ा। बाद में संघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने इस अनुच्छेद का पुरजोर विरोध करते हुए देश में एक निशान और एक विधान की मांग की।

योगी आदित्यनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जमकर तारीफ की। वे बोले एक झटके में अनुच्छेद 370 को खत्म कर आतंकवाद के जड़ में मट्ठा डालने का काम किया। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 हटने से पत्थरबाज गायब हो गए। आतंकवादी घुसपैठ की हिम्मत नहीं कर पा रहे। अगर किसी ने किया भी तो सेना के हमारे जांबाजों द्वारा मारा गया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस, केजरीवाल और विपक्ष के लोग लगातार भ्रम फैलाते रहे कि अनुच्छेद 370 हटा या श्रीराम मंदिर के पक्ष में फैसला आया तो खून की नदियां बहेंगी, पर हिला एक पत्ता नहीं। यूपी में तो एक मच्छर भी नहीं मरा। मैंने इस बाबत लोगों को भरोसा भी दिया था।

योगी ने कहा कि अनुच्छेद-370 के खत्म होने के साथ ही पाकिस्तान में चल रही आतंकवाद की फैक्ट्रियों में भी ताले पड़ने लगे। ऐसे में पाकिस्तान के साथ केजरीवाल के भी पेट में मरोड़ होने लगा। यही वजह है कि पाकिस्तान का एक मंत्री केजरीवाल के लिए समर्थन की अपील कर रहा है। यह रिश्ता खुद में इस बात का सबूत है कि दाल में कुछ न कुछ तो काला है।

सीएम योगी ने कहा कि केजरीवाल का काम लोगों को बेवकूफ बनाना है। हमारी सरकार मेरठ और हरिद्वार तक एक्सप्रेस-वे बनाना चाहती है। इसके लिए केंद्र और यूपी सरकार पैसा और अनापत्ति प्रमाण पत्र दे चुकी है। पर केजरीवाल की सरकार यह कहकर एनओसी नहीं दे रही कि इन सड़कों की जरूरत ही नहीं।

इसी तरह दिल्ली से लेकर के मेरठ तक की रैपिड रेल के लिए भी केजरीवाल सरकार के पास पैसा नहीं है। पांच साल में केजरीवाल ने भ्रष्टाचार पर प्रभावी निगरानी और नियंत्रण के लिए लोकपाल के गठन की बात कही थी। लोकपाल का गठन तो नहीं हुआ। आज सबसे भ्रष्ट और बेईमान मंत्री इन्हीं की सरकार में ही हैं। दरअसल, आम आदमी पार्टी राजनीतिक दल नहीं, बल्कि ब्लैकमेलर्स की जमात है।

बीजेपी ने दिल्ली चुनाव में हिंदुत्व के मुद्दों को और धार देने के लिए योगी आदित्यनाथ को प्रचार के लिए बुलाया है। योगी की पहचान एक आक्रामक हिंदू नेता की रही है। इसी पहचान के कारण तीन साल पहले उन्हें यूपी का मुख्यमंत्री बनाया गया था। वे 4 फरवरी तक दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पार्टी के लिए प्रचार करेंगे। दिल्ली में बीजेपी शाहीन बाग के बहाने वोटरों का ध्रुवीकरण कराने में जुटी है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More