क्योंकि सच जानना आपका हक़ है
क्योंकि सच जानना आपका हक़ है

पेट्रोल और डीजल के दामों में एक दिन की स्थिरता के बाद गुरुवार को फिर आई कमी

पेट्रोल और डीजल के दामों में एक दिन की स्थिरता के बाद गुरुवार को फिर आई कमी

नई दिल्ली : पेट्रोल और डीजल के दामों में एक दिन की स्थिरता के बाद गुरुवार को फिर कमी आई है। देश की राजधानी दिल्ली में डीजल का दाम पिछले साल जून के बाद 64 रुपये लीटर से नीचे आया है, जबकि पेट्रोल का दाम जुलाई 2019 के बाद के निचले स्तर पर है।

तेल विपणन कंपनियों ने गुरुवार को पेट्रोल के दाम में दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में 15 पैसे जबकि चेन्नई 16 पैसे प्रति लीटर की कटौती की है। वहीं, डीजल का दाम दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में नौ पैसे जबकि चेन्नई में 10 पैसे प्रति लीटर कम हो गया है।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का दाम घटकर क्रमश: 71.29 रुपये, 73.96 रुपये, 76.98 रुपये और 74.07 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

चारों महानगरों में डीजल का भाव भी घटकर क्रमश: 63.94 रुपये, 66.27 रुपये, 66.96 रुपये और 67.47 रुपये प्रति हो गया है।

बाजार के जानकार बताते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में पिछले दिनों आई भारी गिरावट के कारण देश में पेट्रोल और डीजल के दाम में कटौती की गई है, जिससे उपभोक्ताओं को तेल की महंगाई से राहत मिली है।

गौरतलब है कि भारत अपनी जरूरतों का तकरीबन 84 फीसदी कच्चा तेल आयात करता है, इसलिए देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव पर निर्भर करती हैं। कोरोनावायरस का प्रकोप चीन से निकलकर दुनिया के अन्य देशों में फैलने लगा है।

govt ad side bar

इसके कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था प्रभावित होने की आशंकाओं के बीच कच्चे तेल के दाम में बीते दिनों भारी गिरावट आई। हालांकि, गुरुवार को कच्चे तेल में तेजी के साथ कारोबार चल रहा था, लेकिन बाजार के जानकारों की माने तो बहरहाल तेल के दाम में फिलहाल किसी बड़ी तेजी की संभावना नहीं है, क्योंकि मांग काफी कमजोर है।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के मई सौदे में पिछले सत्र के मुकाबले 1.37 फीसदी की तेजी के साथ 51.83 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था। वहीं, न्यूयार्क मर्के टाइल एक्सचेंज पर अमेरिकी क्रूड वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट के अप्रैल अनुबंध में पिछले सत्र से 1.34 फीसदी की तेजी के साथ 47.36 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More