धर्म संस्कृति

इस दिन पड़ रही साल की आखिरी सफला एकादशी, जानिए तिथि, मुहूर्त और महत्व

Ganga । DHNN
23 Nov 2022 12:00 AM GMT
इस दिन पड़ रही साल की आखिरी सफला एकादशी, जानिए तिथि, मुहूर्त और महत्व
x
इस बार सफला एकादशी का व्रत 19 दिसंबर को रखा जाएगा जो कि साल की आखिरी एकादशी है। मान्यता है कि इस शुभ दिन पर व्रत पूजन करने से जातक के पिछले जन्म के पापों का नाश हो जाता है।

हिंदू धर्म में एकादशी व्रत को बेहद ही खास माना जाता है ये सभी व्रतों में श्रेष्ठ और कठिन होती है मान्यता है कि इस शुभ दिन पर व्रत पूजन करने से जातक के पिछले जन्म के पापों का नाश हो जाता है और श्री हरि की कृपा प्राप्त होती है।

हर माह में दो एकादशी व्रत पड़ते हैं मार्गशीर्ष मास के बाद पौष मास की सफला एकादशी का व्रत रखा जाता है इस बार सफला एकादशी का व्रत 19 दिसंबर को रखा जाएगा जो कि साल की आखिरी एकादशी है। इस दिन भगवान श्री हरि विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने से जातक की सभी कामनाएं पूर्ण हो जाती है

दुखों से भी छुटकारा मिल जाता है इस दिन पूजा पाठ करने से भक्तों को सभी कष्टों से मुक्ति मिल जाती है तो आज हम आपको अपने इस लेख द्वारा सफला एकादशी पूजा का मुहूर्त बता रहे हैं तो आइए जानते हैं।

सफला एकादशी पूजा का मुहूर्त

धार्मिक पंचांग के अनुसार सफला एकादशी का व्रत 19 दिसंबर दिन साोमवर को रखा जाएगा। ये इस साल की आखिरी एकादशी है इस एकादशी का आरंभ पौष मास के कृष्ण क्ष की एकादशी तिथि 19 दिसंबर को सुबह 3 बजकर 32 मिनट पर शुरू होकर 20 दिसंबर को सुबह 2 बजकर 32 मिनट तक रहेगा।

एकादशी व्रत का पारण 20 दिसंबर को सुबह 8 बजकर 5 मिनट से सुबह 9 बजकर 13 मिनट तक किया जाएगा। धर्म शास्त्रों के अनुसार सफलता एकादशी का व्रत बेहद खास होता है इस दिन व्रत रखने से जातक को सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

साथ ही जो व्यक्ति पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ भगवान विष्णु की पूजा और व्रत करता है उसे मृत्यु के बाद बैकुंठ की प्राप्ति होती है साथ ही साथ जातक को जीवन में सुख समृद्धि और खुशहाली की प्राप्ति होती है।

Next Story