"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×
doon Horizon

देश का मजबूत स्तम्भ है संविधान:शाहिन

  
देश का मजबूत स्तम्भ है संविधान:शाहिन


समस्तीपुर,26 नवम्बर (हि.स.)। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय,भारत सरकार के क्षेत्रीय कार्यालय, फील्ड आउटरीच ब्यूरो(एफ०ओ०बी०) दरभंगा के तत्वावधान में शुक्रवार को समस्तीपुर के आर.एस.बी इन्टर विद्यालय में आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत संविधान दिवस पर जागरूकता सह कौमी एकता सप्ताह का आयोजन किया गया।कार्यक्रम का विधिवत उदघाटन समस्तीपुर के स्थानीय विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन, नेहरू युवा केंद्र, समस्तीपुर के जिला युवा अधिकारी अमित कुमार एवं आर.एस.बी इन्टर विधालय के प्रधानाध्यापक भूपनेश्वर राम ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

स्थानीय विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने कहा संविधान हमारे देश का मजबूत स्तम्भ है, जिससे भारत एक मजबूत प्रजातांत्रिक देश के तौर पर पूरे विश्व में विख्यात है। उन्होंने संविधान निर्माताओं को याद करते हुए कहा कि इस विशाल संविधान को बनाने में 2 वर्ष 11 महीने 18 दिन लगे और आज ही के दिन यानि 26 नवम्बर 1949 को यह संविधान बनकर तैयार हुआ था, जिसे हमारे देश में 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था।कार्यक्रम में नेहरू युवा केंद्र के जिला युवा अधिकारी अमित कुमार एवं प्रधानाध्यापक भुपनेश्वर राम ने युवाओं से देश के विकास में अपना योगदान देने का आग्रह करते हुए कहा कि हमारा ये दायित्व है कि हम अपने संविधान की शिक्षा को आत्मसात कर लोगों को प्रेरित करते हुए देश की सेवा में समर्पित रहें।

कार्यक्रम में एफओबी, सीतामढ़ी के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी जावेद अंसारी और एफओबी, दरभंगा के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी मिहिर कुमार झा द्वारा संविधान दिवस की महत्व पर विस्तृत प्रकाश डाला गया और कार्य के उद्देश्य पर चर्चा की गई।कार्यक्रम में कई प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया ।नेहरू युवा केंद्र, समस्तीपुर के युवाओं के साथ समस्तीपुर शहर मे संविधान दिवस पर एक जागरूकता रैली भी निकाली गई। साथ ही नेहरू युवा केंद्र के युवाओं, आर.एस.बी इन्टर विधालय के छात्र-छात्राओं एवं शिक्षक- शिक्षिकाओं के साथ मैथिली, हिंदी और उर्दू में संविधान के प्रस्तावना को पढ़ा गया।

हिन्दुस्थान समाचार/त्रिलोकनाथ/चंदा

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story