"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×
doon Horizon

अधर में लटकी स्कूलों में नाइट गार्ड की बहाली

  
अधर में लटकी स्कूलों में नाइट गार्ड की बहाली


बिहारशरीफ, 26 नवंबर (हि.स.)| राज्य सरकार के सख्त आदेश के बावजूद तीन बर्ष बीत गए लेकिन आज तक करीब 45 प्रतिशत स्कूलों में नाइट गाड की बहाली नहीं हो सकी। विभागीय अधिकारियों का मानना है कि संबंधित विधायकों की ओर से समय नहीं दिए जाने के कारण ही अधिकांश मामला अटका हुआ है। हालांकि विभाग ने कई बार स्पष्ट शब्दों में सभी स्कूलों में अतिशिघ्र रात्रि प्रहरी की व्यवस्था करने का आदेश दिया था। वर्ष 2019 में 58 उत्क्रमित माध्यमिक स्कूलों में नाइट गाड के व्यवस्था का आदेश जारी हुआ था। उसके बाद फिर वर्ष 2020-21 में 96 स्कूलों में रात्रि प्रहरी की बहाली करनी थी। बावजूद जिलेभर के 154 में से अब तक मात्र 93 की ही बहाली हो सकी है। हैरत तो यह है कि रात्रि प्रहरी के नहीं रहने से अब तक जिले के 14 स्कूलों के सामान चोरों ने चोरी कर ली। फिर भी नाइटगाड बहाली में आना कानी किया जा रहा है।

संभाग प्रभारी इंजीनियर अनुप राज ने बताया कि वर्ष 2019-20 में 58 स्कूलों में नाइट गाड बहाली करने का आदेश दिया था लेकिन उसमें मात्र 23 स्कूलों में ही बहाली हो सकी। उसी प्रकार, वर्ष 2020-21 में 96 को नियुक्त करना था, पर 51 की ही नियुक्ति हो सकी है। कुल मिलाकर जिले भर में 154 में से मात्र 93 स्कूलों में रात्रि प्रहरी की बहाली हुई है। हालांकि सभी स्कूलों में स्मार्ट क्लास चालू हैं और वहां सारा सामान भी मौजूद है|उन्होंने बताया कि बिहारशरीफ, रहुई, अस्थावां, सरमेरा, बिन्द, कतरीसराय व सिलाव प्रखंड क्षेत्र के अधिकांश स्कूलों में बहुत कम बहाली हुई है। यूं कहें की हुई ही नहीं है। जबकि, इस्लामपुर, एकंगरसराय, नूरसराय, चंडी, हिलसा, हरनौत, बेन, परवलपुर, थरथरी, नगरनौसा, करायपरसुराय व सिलाव के अधिकांश स्कूलों में रात्रि प्रहरी बहाल हो चुके हैं।

हिन्दुस्थान समाचार /प्रमोद/चंदा

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story