"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×
doon Horizon

पांच वर्ष गुजर जाने के बाद भी नहीं मिली ग्रामीणों को सड़क, दी चेतावनी

  
पांच वर्ष गुजर जाने के बाद भी नहीं मिली ग्रामीणों को सड़क, दी चेतावनी


गोपेश्वर, 26 नवम्बर (हि.स.)। चमोली जिले के कर्णप्रयाग विकास खंड के मैखुरा मोटर मार्ग से कांचुला-गैन मोटर मार्ग का निर्माण वर्ष 2006 में स्वीकृत होने के बाद भी पांच साल बीत जाने के पर भी वर्तमान तक नहीं बन पाया है। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने शुक्रवार को जिलाधिकारी हिमांशु खुराना के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर शीघ्र मोटर मार्ग पर कार्य शुरू करवाने की मांग की है। ग्रामीण ने चेतावनी दी है कि वह सड़क नहीं तो वोट नहीं के नारे के साथ आंदोलन के लिए विवश होंगे।

जिला पंचायत सदस्य लक्ष्मण सिंह बिष्ट, सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. डीएस पुंडीर का कहना है कि मैखुरा मोटर मार्ग से कांचुला-गैन मोटर मार्ग वर्ष 2006 में स्वीकृत हुआ था, लेकिन मोटर मार्ग पर जंगल होने के कारण इस पर वर्ष 2018 में सैद्धांतिक स्वीकृति दी गई। इसके बाद फरवरी 2019 में कर्णप्रयाग के विधायक ने विधिवत इस मोटर मार्ग पर कार्य आरंभ करने का उद्घाटन किया, लेकिन दो किलोमीटर सड़क आधी अधूरी कटने के बाद कार्य बंद कर दिया गया। अभी चार किलोमीटर मोटर मार्ग बनना अवशेष है।

उन्होंने कहा कि इस मोटर मार्ग के अभाव में ग्रामीण छह किलोमीटर पैदल चलकर अपनी रोजमर्रा की सामग्री पीठ पर लाद कर गांव तक पहुंचाने को मजबूर हैं। सबसे ज्यादा परेशानी तब होती है जब कोई बुजुर्ग बीमार हो अथवा किसी महिला का प्रसव होना हो तो ऐसी दशा में ग्रामीण उन्हें डंडी कंडी में लादकर सड़क मार्ग तक पहुंचाते हैं। उन्होंने कहा कि इस सड़क मार्ग के बनने से क्षेत्र के कांचुला, गनोली, बेरोढ़, मोली समेत अन्य गांवों को लाभ मिल पाता, लेकिन सड़क के अभाव में इन गांवों का विकास नहीं हो पा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से सड़क निर्माण कार्य शुरू करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि शीघ्र ही सड़क निर्माण कार्य शुरू नहीं किया जाता है तो ग्रामीण रोड नहीं तो वोट नहीं नारे के साथ आंदोलन के लिए विवश होंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story