"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×
doon Horizon

पारिवारिक पार्टियां लोकतंत्र के लिए खतरा : लोकदल

  
पारिवारिक पार्टियां लोकतंत्र के लिए खतरा : लोकदल


सुनील सिंह 


लखनऊ, 26 नवम्बर (हि.स.)। संविधान दिवस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा कि पारिवारिक पार्टियां लोकतंत्र के लिए खतरा हैं। आज देश का लोकतंत्र खतरे में है कुछ नकली हिन्दू और पारिवारिक पार्टियों ने खतरा बढ़ा दिया है।

सरकार पर डर का माहौल पैदा करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि सरकार देश में अघोषित आपातकाल लागू कर रही है। सरकार हर चीज पर नियंत्रण करना चाहती है और सरकार द्वारा बनाये गये माहौल को इससे पूर्व पहले कभी नहीं देखा गया।

सुनील सिंह ने कहा कि संविधान का स्तंभ भी खतरे में है। इससे साबित होता है कि भाजपा अंबेडकर के बनाए गए संविधान को ही बदल देने पर आमादा है। बाबा साहेब ने ऐसी ताकतों से देश की जनता को सावधान रहने का आह्वान किया था।

लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि जो सरकार कमजोर वर्ग, महिलाओं, दलितों, गरीबों के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा नहीं कर सकती, उसे संविधान का जश्न मनाने का कोई अधिकार नहीं होना चाहिए। बीजेपी-सपा बसपा के लोग दिखावे के लिए बाबा साहेब का जितना नाम ले लें, सच्चाई यह है कि ये सांप्रदायिक फांसीवाद की ताकतें अंबेडकर के विचारों को ही निशाना बना रही हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/बृजनन्दन

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story