"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×
doon Horizon

किसान आंदोलन को एक वर्ष पूरे होने पर किसान संगठनों ने हल्द्वानी में दिया धरना

  
किसान आंदोलन को एक वर्ष पूरे होने पर किसान संगठनों ने हल्द्वानी में दिया धरना


हल्द्वानी, 26 नवम्बर (हि.स.)। किसान आंदोलन के एक वर्ष पूर्ण होने और कृषि कानूनों की वापसी की जीत के बाद संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले विभिन्न किसान संगठनों, ऐक्टू, किसान महासभा, क्रालोस, जनवादी लोक मंच आदि ने बुद्धपार्क में संयुक्त रूप से धरना देकर एमएसपी की गारंटी के लिए वैधानिक कानून बनाया जाने, स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों के अनुरूप न्यूनतम समर्थन मूल्य को आवश्यक बनाए जाने की मांग की।

कृषि कानूनों की वापसी पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए वक्ताओं ने कहा कि किसानों के दृढ़ संघर्ष ने खेत, खेती किसानी को बड़े पूंजीपतियों के हाथों में जाने से बचा लिया। सरकार खेती किसानी सहित पूरे देश के सार्वजनिक संस्थानों को कॉरपोरेट जगत के हवाले करना चाहती है। किसान आंदोलन की जीत सरकार की इस मंशा पर ब्रेक लगा देगी। यह जीत अपने हक और सम्मान के लिए आंदोलन कर रहे मजदूरों, छात्रों, बेरोजगारों के लिए भी बड़ी प्रेरणा का काम करेगी।

वक्ताओं ने कहा कि आज संविधान दिवस के मौके पर इस जीत के बड़े मायने हैं। धरने के माध्यम से मांग की गई कि तीनों कृषि कानूनों की वापसी के साथ-साथ एमएसपी की गारंटी के लिए वैधानिक कानून बनाया जाए, स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों के अनुरूप न्यूनतम समर्थन मूल्य को आवश्यक बनाया जाये।

हिन्दुस्थान समाचार/अनुपम गुप्ता

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story