"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×
doon Horizon

मप्र : जनजातीय समाज की मांगों और अपेक्षाओं पर सकारात्मक रूप से होगा विचार : शिवराज

  
मप्र : जनजातीय समाज की मांगों और अपेक्षाओं पर सकारात्मक रूप से होगा विचार : शिवराज


मुख्यमंत्री चौहान का जनजातीय संगठनों ने माना आभार


-मुख्यमंत्री चौहान का जनजातीय संगठनों ने माना आभार

भोपाल, 26 नवम्बर (हि.स.) । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार जनजातीय समाज के सामाजिक, शैक्षणिक और आर्थिक सशक्तिकरण के लिए कृत-संकल्पित है। जनजातीय भाई-बहन देश के पुनर्निर्माण में अपना योगदान दे रहे हैं। जनजातीय भाई-बहनों की मांगों और आकांक्षाओं पर गंभीरता से विचार कर सकारात्मक रूप से कदम उठाए जाएंगे। उक्त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को अपने निवास पर जनजातीय संगठनों के प्रतिनिधियों से भेंट के दौरान कही।

मुख्यमंत्री चौहान का जनजातीय संगठनों के प्रतिनिधियों ने पातालपानी रेलवे स्टेशन का नाम परिवर्तित कर जननायक टंट्या भील रेलवे स्टेशन करने की अनुशंसा करने के लिए आभार माना। इसके साथ ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मानपुर और इंदौर में खंडवा रोड के भंवरकुआं चौराहे का नामकरण जननायक टंट्या मामा भील पर करने और पातालपानी स्थित जननायक टंट्या भील की समाधि स्थल के मंदिर का जीर्णोद्धार करने की घोषणा तथा इंदौर में निर्माणाधीन आईएसबीटी बस स्टैंड का नामकरण जननायक टंट्या भील बस स्टैंड करने के लिए मुख्यमंत्री चौहान का आभार माना।

मुख्यमंत्री चौहान से जनजातीय संगठनों ने महू में जनजाति गौरव केंद्र की स्थापना करने का अनुरोध किया। इसमें टंट्या मामा भील का जीवन परिचय, चित्रकला, ऑडियो- वीडियो माध्यमों से प्रदर्शित करने और जनजाति समाज के सभी महापुरुष, क्रांतिकारी, राष्ट्रीय नायकों की चित्र प्रदर्शनी तथा जनजाति समाज की परंपराओं, रीति-रिवाज, वेशभूषा, संस्कृति, कलाकृति, वाद्य यंत्र, शस्त्र-अस्त्र प्रदर्शित करने का अनुरोध भी किया। जनजातीय संगठनों ने देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर में जनजातीय शोध पीठ की स्थापना तथा मालवा के जनजातीय क्षेत्र के लिए जनजाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान आरंभ करने का निवेदन भी किया। यह संस्थान वन संवर्धन, वनोपज और उसके वैल्यू एडिशन, मार्केटिंग इत्यादि विषयों पर शोध और प्रशिक्षण सुविधा उपलब्ध कराएगा। संगठनों ने निवेदन किया कि इन गतिविधियों से जनजातियों के सामाजिक सशक्तिकरण के साथ-साथ आर्थिक उन्नयन का मार्ग प्रशस्त होगा।

मुख्यमंत्री चौहान से निवास पर भीमा नायक वनांचल सेवा समिति के रमेश गामोड़, खेम सिंह जमरा, राजेश डावर, राकेश कटारा, जय ओमकार, भिलाला समाज के संतोष बघेल, जनजाति विकास मालवा के पूजा लाल निनामा, गोविंद भूरिया, टंट्या मामा ग्रुप के राधेश्याम जामले, भाया राम भास्कर, रानी दुर्गावती गोंडवाना परिषद के विक्रम मस्कुला, भील जनजाग्रति मंच के श्यामा जी ताहेड़ तथा महाराणा भील सेवा समिति के शंकर लाल कटारा ने भेंट की। मुख्यमंत्री चौहान को प्रतिनिधि मंडल द्वारा जननायक टंट्या मामा का चित्र भेंट किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार / उमेद

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story