क्योंकि सच जानना आपका हक़ है
क्योंकि सच जानना आपका हक़ है

उत्तराखंड : गंगनहर की पटरी पर ट्रांसपोर्ट व्यवसायी से कार लूट का खुलासा, दो बदमाश गिरफ्तार

उत्तराखंड : गंगनहर की पटरी पर ट्रांसपोर्ट व्यवसायी से कार लूट का खुलासा, दो बदमाश गिरफ्तार

हरिद्वार : गंगनहर पटरी पर ट्रांसपोर्ट व्यवसायी जसपाल से असलहे के दम पर कार और नगदी लूट की वारदात से पर्दा उठाते हुए सीआईयू और बहादराबाद पुलिस ने दो आरोपी दबोचे हैं।

कार लूट के बाद आरोपियों ने लुधियाना (पंजाब) में फाइनेंसर की दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। आरोपियों पर पंजाब पुलिस ने एक लाख का इनाम घोषित किया हुआ है। वहीं, उनकी गिरफ्तारी की सूचना मिलने पर पंजाब पुलिस ने भी बहादराबाद पुलिस से संपर्क साधा।

सोमवार को बहादराबाद थाने में प्रेसवार्ता कर एसएसपी सेंथिल अबूदई कृष्णराज एस ने बताया कि 19 जनवरी को गंगनहर पटरी पर हैंडपंप पर मुंह धो रहे ट्रांसपोर्ट व्यवसायी जसपाल निवासी सुभाषनगर से बदमाशों ने असलहे के दम पर कार लूट ली थी।

सोमवार को सीआईयू और बहादराबाद पुलिस को भगवानपुर की ओर से आ रही एक कार में दो संदिग्धों के होने की सूचना मिली थी।

पुलिस ने दौलतपुर गांव में डीपीएस पुलिया पर चेकिंग के दौरान पंजाब नंबर की कार रोक ली। कार सवार दो युवकों की तलाशी ली गई तो उनके कब्जे से दो पिस्टल, भारी मात्रा में कारतूस बरामद हुए।

थाने लाकर पूछताछ की गई तो आरोपियों ने अपना नाम सुखविंदर उर्फ मोनी पुत्र गुरुदेव निवासी लेबर कॉलोनी दुसमल्ला लुधियाना, पंजाब और सुमित पुत्र सतपाल निवासी गांव घासरेकी थाना गागलहेड़ी जिला सहारनपुर यूपी बताया।

आरोपियों ने कबूला कि उन्होंने कार 19 जनवरी को गंगनहर पटरी से लूटी थी। मौके पर छोड़ी गई बाइक क्षेत्र के शगुन वेडिंग प्वाइंट के बाहर से चोरी की थी। कार लूट के बाद हरिद्वार का नंबर हटाकर उन्होंने पंजाब नंबर की प्लेट लगा ली थी। एसएसपी ने बताया कि दोनों की मुलाकात रुड़की जेल में हुई थी।

दोनों आजकल गांव जमालपुर खुर्द आरकेपुरम में किराए पर रह रहे थे। कार लूट के बाद वे लुधियाना पंजाब पहुंचे और पुरानी रंजिश के कारण सुखविंदर ने सुमित के साथ मिलकर फाइनेंसर जिद्दी की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी।

लुधियाना पुलिस ने आरोपियों पर एक लाख का इनाम घोषित किया हुआ है। इस दौरान एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, सीओ पूर्णिमा गर्ग मौजूद रहे।

रुड़की में सिक्योरिटी गार्ड को गोली मारकर लूटा था कैश

एक लाख के इनामी सुखविंदर ने रुड़की के गंगनहर क्षेत्र में अपने साथियों के साथ मिलकर एटीएम में रकम डालने आई वैन के सिक्योरिटी गार्ड को गोली मारकर 25 लाख की रकम लूट ली थी। शातिर सुखविंदर के खिलाफ गंगनहर के अलावा पंजाब में भी कई मुकदमे दर्ज हैं।

बदले की आग में जल रहा था सुखविंदर

उसके खिलाफ हत्या, हत्या की कोशिश, डकैती, लूट, आर्म्स एक्ट समेत कई धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। उसकी पिछले साल अक्तूबर में गंगनहर से जुड़े मुकदमे में जमानत हो गई थी, लेकिन लुधियाना के मुकदमे के चलते उसे पंजाब की जेल में शिफ्ट कर दिया गया था।

फिर अगले माह जमानत मिलने पर वह बाहर आ गया था। वहीं, सुमित के खिलाफ भी चोरी के कई मुकदमे दर्ज हैं।

सुखविंदर ने फाइनेंसर जिद्दी से बदला लेने की ठानी हुई थी। दरअसल, सुखविंदर को संदेह था कि पंजाब पुलिस को उसकी मुखबिरी दो बार फाइनेंसर जिद्दी ने की थी। इसलिए वे जिद्दी से रंजिश रखता था और उसकी हत्या करने की हसरत पाली हुई थी।

लिहाजा जेल से छूटने के बाद वह जिद्दी की हत्या का ताना बाना बुन रहा था और मौका मिलते ही वह अपने मकसद में कामयाब भी रहा।

ये रहे पुलिस टीम में शामिल

एसओ गोविंद कुमार, एसआई अशोक कुमार, एसआई रधुवीर सिंह रावत, एसआई सतीश शाह, एसआई रणजीत सिंह, एसआई मान सिंह नेगी, सीआईयू प्रभारी राजीव चौहान, सीआईयू रुड़की प्रभारी रविंद्र कुमार, हेड कांस्टेबल सुंदर लाल, महीपाल, नितिन, विवेक, हरवीर, पदम, शशिकांत, उमेश, संजय कुमार, बारू दत्त जोशी, सुनील राठी, राहुल देव, सुनील कुमार शामिल रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More