उत्तराखंड

पौने पांच करोड़ के घोटाले का आरोपी कैशियर गिरफ्तार, इस काम में लगाता था लोगों की मेहनत की कमाई

Harpreet । DHNN
5 Dec 2022 1:29 PM GMT
पौने पांच करोड़ के घोटाले का आरोपी कैशियर गिरफ्तार, इस काम में लगाता था लोगों की मेहनत की कमाई
x
चार सितंबर को मदन नेगी के यूनियन बैंक मैनेजर अविनाश कुमार ने नई टिहरी कोतवाली को दी तहरीर में बताया था कि तत्कालीन बैंक प्रबंधक राहुल शर्मा और कैशियर सोमेश डोभाल ने बैंक ग्राहकों की जमा पूंजी का करीब पौने पांच करोड़ का घोटाला किया है।

नई टिहरी के जाखणीधार ब्लॉक के मदननेगी में स्थित यूनियन बैंक में हुए करोड़ों के घोटाले के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी बैंक में जमा ग्राहकों की गाढ़ी कमाई को हेराफेरी में संलप्ति बैंक कर्मियों की मदद से सट्टे में लगाता था।

आरोपी के खाते में 85 लाख का लेनदेन भी पकड़ा है। साथ ही उसके कब्जे से लैपटॉप और आई फोन बरामद किया गया। पुलिस ने आरोपी को न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया है।

सोमवार को एएसपी विजेंद्र डोभाल ने पत्रकार वार्ता में बताया कि चार सितंबर को मदन नेगी के यूनियन बैंक मैनेजर अविनाश कुमार ने नई टिहरी कोतवाली को दी तहरीर में बताया था कि तत्कालीन बैंक प्रबंधक राहुल शर्मा और कैशियर सोमेश डोभाल ने बैंक ग्राहकों की जमा पूंजी का करीब पौने पांच करोड़ का घोटाला किया है।

पुलिस ने जांच के दौरान गिरफ्तार आरोपी मदन सिंह पंवार के बयानों के आधार पर पता लगाया कि यह पैसा सट्टा बाजार में लगाकर आरोपी लाभ कमा रहे थे। उसके बाद सौरभ सुखीजा निवासी सीवन गेट थाना किसटी कैंथल हरियाणा को एक्टिव सर्विलांस की मदद और मुखबिर की सूचना पर रविवार शाम को पंचकूला हरियाणा से सट्टेबाजी के लिए प्रयुक्त लैपटॉप और मोबाइल के साथ गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी के खाते में 85 लाख रुपये का संदिग्ध लेनदेन भी हुआ है।

एएसपी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ हरियाणा चंडीगढ़ सहित हिमाचल प्रदेश में भी सट्टे के अपराध में केस दर्ज हुए थे जिसमें वह जेल भी जा चुका है। इस मौके पर कोतवाली निरीक्षक कमल मोहन भंडारी, एसआई राजेंद्र कुमार, एसआई नंद किशोर ग्वाड़ी, अरविंद कुमार, आशीष नेगी और सचिन कुमार आदि मौजूद थे।

Next Story