"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

देहरादून एक्सक्लूसिव : स्मार्ट सिटी की जगह शमशान सिटी बनाने की तैयारी, जमकर हो रही पैसे की बर्बादी

  
देहरादून एक्सक्लूसिव : स्मार्ट सिटी की जगह शमशान सिटी बनाने की तैयारी, जमकर हो रही पैसे की बर्बादी

देहरादून : कल दिनांक 03/09/2021 को स्मार्ट सिटी के कर्मचारियों द्वारा रात को गढ़े खोदने के कार्य की शुरुवात की गई जिसमें सरिए का बिम बनाकर अभी छोड़ रखा है। उस पर स्मार्ट सिटी द्वारा खंबे लगाए जाएंगे और स्ट्रीट लाइट लगवाई जाएगी उस रोड पर पहले ही जाम कि इस्तिथी बनी रहती है और अब खंबे लगने से और अधिक जाम बढ़ेगा ना की कम होगा और उन खम्बो का कोई लाभ भी नहीं है। 

व्यापार संरक्षक सुशील अग्रवाल ने कहा कि खंभो को लगने के बाद वहां अतिक्रमण बढ़ेगा दुकानों के आगे ठेलियो को खड़े होने की आड़ मिलेगी और कुछ फायदा उन खम्बो का नहीं नजर आ रहा है। स्मार्ट सिटी द्वारा अभी भी ना तो व्यापार मंडल की राय ली जा रही है और ना ही व्यापारियों की बस स्मार्ट सिटी की जगह शमशान सिटी बनाने में अपनी मर्जी चलाई जा रही है और पैसे की बर्बादी को जा रही है।

दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष पंकज मेंसोन ने कहा कि डिस्पेंसरी रोड के समस्त व्यापारी इसकी घोर निंदा करते हैं और तुरंत उन गढो को वापस भरने की चेतावनी देते हैं। आज से कुछ समय पूर्व हाई कोर्ट के आदेश पर नगर निगम द्वारा गांधी स्कूल से लेकर नीचे तक के खोखे हटाए गए थे और उन दुकानदारों को राजीव गांधी कॉम्प्लेक्स में शिफ्ट किया गया था।

आज उसी जगह एक स्मार्ट टॉयलेट बनाया गया है जिसकी जरूरत नहीं थी और ना ही उस वाटर एटीएम की जरूरत वहां थी। हाई कोर्ट द्वारा वह खोके यह कहकर हटाए गए थे कि उनसे जाम की इस्तीथी पैदा होती है तो आज उस जगह पर इनको क्यों लगाया गया।

दून वेली महानगर उद्योग व्यापार मंडल के राजीव गांधी काम्प्लेक्स के संयोजक जसपाल छाबडा द्वारा कहा गया कि स्मार्ट टॉयलेट की चौड़ाई इतनी कम है जिसमे व्यक्ति आराम से टॉयलेट में घुस भी नहीं सकता है तो ऐसे स्मार्ट टॉयलेट किसी काम के नहीं है।

राजीव गांधी कॉम्प्लेक्स में पहले से ही महिला शौचालय एवम पुरुष शौचालय हर फ्लोर पर बनाया हुआ है और राजीव गांधी कॉम्प्लेक्स एवम डिस्पेंसरी रोड के व्यापारियों द्वारा इस स्मार्ट टॉयलेट के निर्माण होने से पहले इसकी कड़ी निन्दा की गई थी और इस कार्य को रोकने में लिए कहा गया था।

लेकिन इसमें किसी की भी नहीं सुनी गई और हाई कोर्ट द्वारा दिए गए आदेशों की भी धज्जियां उड़ाई गई। हमारा आपसे निवेदन है उसे हटाया जाए और सड़क पर चलने वाले ग्राहकों के लिए  सड़क को चौड़ा किया जाए। और काम्प्लेक्स के आगे की क्यारियों को भी हटा कर वहाँ पर सीढियों का निर्माण किया जाये जिससे काम्प्लेक्स में ग्रहकों की आवाजाही बढ़ सके इसके लिए कहीं बार नगर निगम में भी व्यापरियों द्वारा मेयर सहाब को ज्ञापन दिया जा चुका है पर आज तक किसी प्रकार की कोई कारवाई नहीं हुई

युवा सचिव दिव्या सेठी द्वारा कहा गया कि पहले ही पलटन बाजार में इस तरह के पिलर लगाये जा रहे है जिनका हाल ये है कि वो जगह पूरी गंदगी से भरी हुई है और सरिये बाहर निकले हुए है जिसका चित्र भी इसके साथ भेज रहे है व्यापारी स्मार्ट सिटी के कार्य से ज़रा भी खुश नहीं हुआ अभी तक परेशानियां झेल रहा है स्मार्ट सिटी द्वारा सारा निर्माण कार्य आधा अधूरा है जिससे व्यापारियों को कई परेशानियों से जूझना पड़ रहा है अगर हमारी मांग पूरी नहीं की जाती तो समस्त व्यापारी धरने पर बैठने से पीछे नहीं हटेगा।

इस उक्त बैठक में पंकज दीदान, सुशील अग्रवाल, विनय नागपाल, मनन आनंद, दिव्य सेठी, मनीष मोनी, विनीत मिश्रा, रोहित बहल, हरीश विरमानी, हरमीत जायसवाल, राकेश किशोर गुप्ता, शेखर फुलारा, दीपू नागपाल, अमरदीप सिंह, हेम रस्तोगी, पुनीत सेहगल, भुवन पाहलीवाल, श्याम सुंदर नारायण, सुरेश गुप्ता, मोहित मेहता, नितेश मल्होत्रा, रवि मल्होत्रा आदि कई व्यापारी गण मौजूद रहे।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story