"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

तीन माह के बाद दरगाह साबिर पाक सहित तीनों दरगाहें खोली

  
तीन माह के बाद दरगाह साबिर पाक सहित तीनों दरगाहें खोली

रुडकी : कोरोना माहमारी के चलते एक मई से बंद की गई दरगाह साबिर पाक सहित तीनों दरगाहों को तीन माह के इंतजार के बाद वक्फ बोर्ड की अनुमति पर गुरुवार सुबह खोल दिया गया। दरगाह खुलने के बाद ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडे ने व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान अव्यवस्था देख जेएम ने कर्मचारियों को कड़ी फटकार लगाई।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के चलते उत्तराखंड वक्फ बोर्ड ने एक मई को दरगाह साबिर पाक सहित अन्य दरगाहों को बंद कर दिया गया था। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का प्रकोप कम होने के बाद विधायक हाजी फुरकान अहमद सहित कई लोगों ने कोविड की गाइड लाइन के अनुसार दरगाह खोलने की मांग की थी। बुधवार को डीएम और वक्फ बोर्ड के अधिकारियों ने कलियर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया था।

उसके बाद वक्फ बोर्ड के सीईओ डॉ. अहमद इकबाल ने दरगाह प्रबंधन को कोविड की गाइड लाइन के अनुसार दरगाह को खोलने के निर्देश दिए। साथ ही कहा उल्लंघन होने पर कार्रवाई की जाएगी। गुरुवार को दरगाह खुलते ही जायरीनों की भीड़ जुटने लगी। दरगाह खुलने के बाद दोपहर को ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडे ने दरगाह परिसर में व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान आधी-अधूरी व्यवस्था देख ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दरगाह कर्मचारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए।

जेएम ने बताया कि कई दिनों के बाद दरगाह खुली तो जायरीनों की अचानक भीड़ बढ़ गई थी। शुरू में थोड़ा नियंत्रण करने में परेशानी आई हैं। कर्मचारियों को व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। मेन गेट से जायरीनों को मास्क व सेनेटाइजर करने के बाद ही अंदर जाने दिया जाएगा और पहाड़ी गेट से बाहर निकालने की व्यवस्था की गई है। बिना मास्क और शारीरिक दूरी का पालन न होने पर चालान किया जाएगा।

यदि कोई कर्मचारी ड्यूटी के प्रति लापरवाही करता पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मौके पर कार्यवाहक दरगाह प्रबन्धक शफीक अहमद, इंतखाब आलम, राव सिकंदर, राव शारिक, अफजाल अहमद आदि कर्मचारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें :

👉  खानपुर विधायक चैंपियन ने सौंपे सीएम को विकास योजनाओं के प्रस्ताव

👉  उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में मिले 48 नए कोरोना संक्रमित, जबकि 51 मरीजों को ठीक होने के बाद भेजा गया घर

👉  मैक्स हेल्थकेयर द्वारा पोस्ट कोविड पेशेंट्स पर की गयी सबसे बड़ी स्टडी

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही और भी Hindi News ( हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Share this story