उत्तराखंड

न्यायिक अधिकारियों का दुर्व्यवहार बढ़ता जा रहा, अधिवक्ताओं ने लगाया आरोप

Harpreet । DHNN
17 Nov 2022 4:29 PM GMT
न्यायिक अधिकारियों का दुर्व्यवहार बढ़ता जा रहा, अधिवक्ताओं ने लगाया आरोप
x
कुछ दिनों पहले हरिद्वार में हुई उत्तराखंड बार काउंसिल की बैठक में 17 नवंबर को प्रदेशभर में एक दिवसीय हड़ताल का निर्णय लिया गया था। अधिवक्ताओं का आरोप है कि न्यायिक अधिकारियों का उनके प्रति दुर्व्यवहार बढ़ता जा रहा है।

न्यायिक अधिकारियों पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए अधिवक्ता बृहस्पतिवार को कार्य बहिष्कार पर रहे। देहरादून में सिविल कोर्ट कंपाउंड के परिसर में एकत्र होकर उन्होंने नारेबाजी की और न्यायिक अधिकारियों के व्यवहार में सुधार की मांग उठाई।

अधिवक्ताओं के कार्य बहिष्कार से न्यायालयों में दिनभर सुनवाई नहीं हो सकी। इससे वादकारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

कुछ दिनों पहले हरिद्वार में हुई उत्तराखंड बार काउंसिल की बैठक में 17 नवंबर को प्रदेशभर में एक दिवसीय हड़ताल का निर्णय लिया गया था। अधिवक्ताओं का आरोप है कि न्यायिक अधिकारियों का उनके प्रति दुर्व्यवहार बढ़ता जा रहा है।

इसी के विरोध में बृहस्पतिवार को कार्य बहिष्कार कर अधिवक्ताओं ने दो घंटे तक प्रदर्शन किया। बार एसोसिएशन देहरादून के अधिवक्ताओं ने सिविल कोर्ट परिसर के बाहर एकजुट होकर प्रदर्शन किया। उन्होंने हाथों में पोस्टर और बैनर लिए थे जिन पर उनकी मांगें लिखी हुई थीं।

इस दौरान उत्तराखंड बार काउंसिल के चेयरमैन एमएम लांबा, देहरादून बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मनमोहन कंडवाल, सचिव अनिल शर्मा आदि ने कहा कि अधिवक्ता अपनी मांगों पर हमेशा एकजुट रहे हैं।

न्यायिक अधिकारियों को अपना रवैया सुधारना होगा। इस अवसर पर वरिष्ठ अधिवक्ता राकेश गुप्ता, राजीव शर्मा बंटू, संजीव शर्मा, सौरभ दुसेजा, मनीषा दुसेजा, प्रकाश टी पाल, एसके धर, आलोक घिल्डियाल, अमित चौधरी, अल्पना जदली, दीपक कुमार, स्वाति बडोनी आदि मौजूद रहे।

Next Story