"क्योंकि सच जानना आपका हक है"

×

बांग्लादेश के मंत्री ने नाव डूबने की घटना को जानबूझकर की गई हत्या बताया

  

ढाका : बांग्लादेश के नौवहन राज्य मंत्री खालिद महमूद चौधरी ने कहा कि बूढ़ी गंगा नदी में नाव डूबने की घटना एक सामान्य दुर्घटना न होकर एक जानबूझकर की गई हत्या है, जिसमें 34 लोगों ने अपनी जान गंवाई है।

बांग्लादेश सरकार ने इस घटना की पड़ताल के लिए सात सदस्यीय जांच दल का गठन किया है।

जहाजरानी मंत्रालय ने सोमवार को जांच दल का गठन किया।

मुंशीगंज से 50 से अधिक यात्रियों के साथ ढाका आ रही डबल डेकर मॉनिर्ंग बर्ड नाव सोमवार की सुबह 9:33 बजे राजधानी के श्यामबाजार के पास कठापट्टी घाट पर मयूर -2 नामक जहाज से टकरा गई थी, जिससे यह नदीं में डूब गई।

दुर्घटना के 26 घंटे बाद तक बचावकर्मी लापता हुए लोगों और शवों को तलाशने में लगे रहे।

जहाजरानी मंत्री ने कहा, सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद ऐसा लगता है कि यह कोई दुर्घटना नहीं है, यह एक जानबूझकर हत्या की घटना है।

मंत्री ने यह भी कहा कि सरकार इस घटना की जांच शुरू करेगी और पता लगाएगी कि किसी लापरवाही से इतनी बड़ी घटना हुई है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि नाव में 50 से अधिक यात्री थे। हालांकि कई यात्री तैरने में कामयाब रहे तो कई लापता हो गए।

अग्निश्मन कर्मचारी, नदी पर गश्त करने वाली पुलिस, बांग्लादेश नेवी और बांग्लादेश कोस्ट गार्ड के सदस्यों ने दुर्घटना के बाद बचाव अभियान चलाया और सोमवार को कई शव बरामद किए।

इसके अलावा नाव डूबने के 13 घंटे बाद सोमवार रात एक व्यक्ति को जिंदा बचाया गया।

Share this story